अभय 'निर्भीक'
अभय 'निर्भीक'
0 Articles0 Comments

नाम : अभय सिंह निर्भीक (पूरा नाम- अभय प्रताप सिंह ) पिता का नाम : श्री विजय बहादुर सिंह(पूर्व चीफ मैरीन इंजीनियर ,बबरतिया नौसेना) माता श्रीमती मंजुला सिंह (पूर्व प्रधानाचार्य, सरस्वती शिशु स्कूल ) जन्म तिथि: 20 जनवरी 1989 जन्म स्थान : ग्राम. सुलेमपुर, पोस्ट -परस कटुई ( किछौछा ) ,जिला -अम्बेडकरनगर,उत्तर प्रदेश प्रकाशित साहित्य ' निर्भीक स्वर' ( काव्य संग्रह) 'सृजन के सितारे (सह -सम्पादन) सम्मान एवं पुरुस्कार 1. 'पं. प्रताप नारायण मिश्र युवा साहित्यकार सम्मान '- भाऊराव देवरस सेवा न्यास ,लखनऊ द्वारा वर्ष -2012 2.'विभूति साहित्य सम्मान' संस्कार भरती, बरेली द्वारा - वर्ष 2013 3.'युवा रत्न सम्मान 'लखनऊ महोत्सव द्वारा -वर्ष 2016 4.'कबीर सम्मान ' तालिवुड हंगामा ,फैज़ाबादबाद द्वारा -वर्ष 2016 5.'ह्यूमन अवार्ड ' उपभोक्ता संरक्षण परिषद ,भारत सरकार द्वारा वर्ष 2018 6.'यशगान सम्मान ' यशगान आयोजन समिति ,इंदौर द्वारा -वर्ष 2018 7.'सृजन सम्मान' यू.पी. प्रेस क्लब ,लखनऊ द्वारा -वर्ष 2018 8.' युवा काव्य मानस सम्मान ' माँ फाउंडेशन ,दिल्ली द्वारा -वर्ष 2013 9.'सुमन एक्सीलेंस अवार्ड ' उर्मिला सुमन फाउंडेशन ,अम्बेडकरनगर द्वारा- वर्ष 2017 10.'अस्तित्व सम्मान ' विकल्प सोसाइटी ,लखनऊ द्वारा -वर्ष 2017 11.'साहित्य श्री सम्मान' अखिल भारतीय साहित्य उत्थान परिषद ,लखनऊ द्वारा -वर्ष 2017 12.'काव्यश्री सम्मान ' साहित्य सेवा संस्थान, फैज़ाबाद द्वारा -वर्ष 2017 13.'काव्य रत्न सम्मान ' कवितालोक लखनऊ द्वारा -वर्ष 2017 14.उत्तर प्रदेश खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा अभिनंदित -वर्ष 2017 15.उपरोक्त्त के अतिरिक्त अनेक पुरुस्कार व सम्मान प्राप्त अन्य उप्लब्धधियां- 1.दिल्ली के ऐतिहासिक लाल किला से गणतंत्र महोत्सव के राष्ट्रीय कावू सम्मेलन सहित देश के अनेक मंचों पर काव्यपाठ 2.दूरदर्शन ,आकाशवाणी, न्यूज 24, लाइव टुडे, ईटीवी, भारत समाचार , जी हिंदुस्तान ,नेशनल वायस सहित अनेकों चैनलों पर काव्यपाठ सम्प्रति मासिक साहित्यिक पत्र ' साहित्यगंधा' के कार्यकारी संपादक के रूप में कार्यरत संपर्क पता - 4/82 विराट खण्ड ,गोमतीनगर ,लखनऊ- 226010 फोन नं. - 9984207057 ईमेल - [email protected]

अबुज़र नवेद
अबुज़र नवेद
5 Articles0 Comments

मौ. अबुज़र,  सर नाम ( नवेद) "अबुज़र नवेद"   जन्म : 20/4/1994 स्थान : बसी किरतपुर, ज़िला बिजनौर U.P-246731 पिता : कारी मौ.उमर शिक्षा : बी.ए. (उर्दू) हाफिज़-ए-कुरान   काव्य - यात्रा: 2008 में पहला मुशायरा,कवि सम्मेलन पढ़ा अब तक 200 से अधिक मंचों तथा नैशनलचैनल टी.वी. चैनल एवं  आल इंडिया रेडियो पर मुशायरे पढ़े। बहुत ही कम उम्र में अपनी पढ़ाई के साथ-साथ 7 क्लास से अपना क़लाम लिखना शुरू किया। और रफता रफता हिन्दी, ऊर्दू के कई बड़े अखबारों में मेरी गज़लें और आर्टिकल्स मैगज़ीन में प्रकाशित होने लगे।   पहली रिकार्डिंग मेरी डी•डी• ऊर्दू पर 2012 में हुई फिर डी•डी• नैशनल पर हुई फिर ETv Urdu. Zee Salam Alami samay. में हुई, आल इंडिया रेडियो पर लगातार रिकार्डिंग होने लगीं । जो आज तक हो रही है लोगों का प्यार मिल रहा है और अब देश के बड़े न्यूज़ चैनल Zee News पर भी 5 रिकॉर्डिंगहो चुकी हैं। News -18, News 24 पर भी काव्य पाठ किया है।   उपलब्धि : आई.टी.आई कलेज हौज़ खास से पुरुस्कार दिल्ली ज़ाकिर हुसैन कालेज से  1st प्राइज़ कम्पीटिशन में हासिल किया मेरठ चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से एवार्ड । बनारस से इशरत पुरुस्कार और बहुत जगहों से एवार्ड हासिल किए।   अबुज़र नवेद, शायर  दिल्ली

Avatar
admin
0 Articles0 Comments

अजातशत्रु
अजातशत्रु
8 Articles0 Comments

पिता: गोवर्धन सिंह राव माता :राजकुमारी राव जन्मस्थान : झीलों की नगरी उदयपुर (राजस्थान) उपलब्धियां: पुस्तकें: 1.आधी कटोरी चाँदनी 2.चुनावी गोरखधंधा 3.जिस नदी का समंदर नही 4.आखर पुल 5.गुरू महिमा विदेश यात्राएं 1.दुबई 2.मॉरीशस 3.अबु धाबी 4.नेपाल 5.श्रीलंका 6.इंडोनेशिया 7.इथोपिया,एडिस अबाबा (अफ्रीका) 8.केन्या,नैरोबी (अफ्रीका) सम्मान 1.युवा कवि सम्मान भारत सरकार द्वारा 2004 2.काव्यरत्न सम्मान इंदौर 3.सफल सञ्चालक सम्मान भारत विकास परिषद उदयपुर 4.काव्य शिरोमणि सम्मान फिरोजपुर केंट पंजाब 5.हास्य शिरोमणि सम्मान चैन्नई 6.लगभग 1500 सम्मान की एक लंबी श्रृंखला है जो पिछले 25 वर्षों के काव्य सेवा के दौरान मंचो से प्राप्त हुए। विशेष 1. राष्ट्रपति भवन में कवितापाठ 2. ‎भारत सरकार द्वारा अंडमान निकोबार जाना तथा सेल्युलर जेल में पर्यटकों के मध्य काव्यपाठ 3. ‎देश के सभी चैनल्स पर नियमित काव्य प्रसारण 4. ‎हिंदी फिल्म तीर्थ तथा नई दिशा में गीत लेखन 5. ‎हिंदी कवि सम्मेलनों के सेलिब्रिटी कवियों में शुमार जिन्हें सुनने हजारों की भीड़ जमा हो जाती है। 6. देश के सबसे बड़े चैनल जी न्यूज पर अनगिनत बार कवियुद्ध का सन्चालन। 7. इंडिया टीवी आजतक एबीपी न्यूज सहित देश के सभी लोकप्रिय चैनल्स पर ससम्मान आमंत्रित। 8. वर्तमान में भारत सरकार की हिंदी राजभाषा समिति के सदस्य

अखिलेश द्विवेदी
अखिलेश द्विवेदी
3 Articles0 Comments

नाम- अखिलेश चंद्र जन्म की तारीख - 01-12-1957 आयु - 63 पेशा - अधिवक्ता। इलाहाबाद में पैदा हुए। हमेशा संगीत में रुचि थी। युवावस्था में कुछ समय के लिए विभव भारती से जुड़े थे। त्योहारों में स्थानीय स्टेज शो के लिए नाटक लिखना शुरू कर दिया। इसके बाद उन्होंने लेखन में रुचि विकसित की। 2010 से वह कवि सम्‍मेलन और कविता पाठ के लिए पूरी तरह से समर्पित हैं।

आलोक श्रीवास्तव
आलोक श्रीवास्तव
0 Articles0 Comments

टीवी पत्रकार, कवि और गीतकार • आधारित: दिल्ली और मुंबई। पत्रकार के रूप में: आलोक ने भारत के जाने-माने मीडिया घरानों के साथ काम किया है जिसमें प्रमुख अखबार और चैनल दैनिक भास्कर, आजतक, इंडिया टीवी और डीडी ने लगभग दो दशकों तक काम किया है। वह समाचार और विचारों के आधार पर वृत्तचित्र और मेगा शो का निर्माण करने में एक विशेषज्ञ है। उन्होंने आजतक के लिए पहला आउटडोर चुनाव रोड शो तैयार किया। वह कई अन्य बड़े शो और पुरस्कार विजेता वृत्तचित्र टी वी इंडिया के निर्माता भी थे। दूरदर्शन के साथ सीनियर सलाहकार के रूप में, उन्होंने डीडी नेशनल, डीडी इंडिया और डीडी किसान की रिले टीम के सदस्य के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सहित्य में : आलोक की आमीन (कविता संग्रह) और आफरीन (कहानी संग्रह) सबसे अधिक समीक्षकों द्वारा प्रशंसित साहित्यिक कृतियाँ हैं। उनकी कविताओं और ग़ज़लों की ऐसी माँग है कि उनका अनुवाद रूसी और जापानी के अलावा विभिन्न भारतीय भाषाओं सहित गुजराती, मराठी और पंजाबी में किया गया है। एमीन पहले ही कई संस्करणों में जा चुकी है और इसके गुजराती संस्करण को काफी पहचान मिल रही है। आलोक ने प्रसिद्ध उर्दू कवियों की कई पुस्तकों का संपादन भी किया है। कवि और गीतकार के रूप में: आलोक एकमात्र युवा कवि हैं जिनकी साहित्यिक रचनाओं में ग़ज़ल के उस्ताद स्वर्गीय जगजीत सिंह, पंकज उधास, जसविंदर सिंह, सुदीप बनर्जी सिंगर शंकर महादेवन, रेखा भारद्वाज, शान, कैलाश खेर, ऋचा शर्मा, जावेद अली, मालिनी अवस्थी, शास्त्रीय गायिका ने आवाज़ दी है। गायक उस्ताद राशिद खान, शुभा मुद्गल, महान बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन और कई अन्य। उन्होंने 2012 में ग्रैमी अवार्ड्स के लिए नामांकित एल्बम ट्रैवलर के लिए प्रसिद्ध सितारवादक अनुष्का शंकर के साथ भी काम किया। उन्होंने पुरस्कार विजेता इंडो-अमेरिकन फिल्म पतंग: द काइट और फिल्म के थीम गीत के लिए गीतकार के रूप में प्रशंसा हासिल की। दिस शिट अनिमोर को लें। फिल्म ने 'बेस्ट फिल्म ऑन सोशल इश्यू ’श्रेणी में राष्ट्रीय पुरस्कार जीता। मल्टी स्टारर फिल्म वोडका डायरीज़ में गीत। गज़ल गायक जसविंदर सिंह द्वारा गाए और संगीतबद्ध उनके एल्बम "इटरनल" को द बेस्ट ऑफ़ द ईयर के लिए AAMA अवार्ड मिला। एक केबीसी विशेषज्ञ के रूप में आलोक बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की मेजबानी वाले सबसे लोकप्रिय टीवी शो केबीसी में विशेषज्ञ सलाहकार भी रहे हैं। पुरस्कार और सादर: आलोक को मध्य प्रदेश साहित्य अकादमी द्वारा दुष्यंत कुमार पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। वह मास्को, रूस से अंतर्राष्ट्रीय पुश्किन पुरस्कार प्राप्त करने वाले सबसे युवा कवि हैं। उन्होंने वाशिंगटन डीसी में यूएसए से अंतर्राष्ट्रीय कविता पुरस्कार भी प्राप्त किया। कविता के लिए उनकी प्रशंसा की सूची में नवीनतम है, ब्रिटिश संसद के हाउस ऑफ कॉमन्स के लंदन में और कविता के लिए फिराक गोरखपुरी पुरस्कार। हाल ही में उन्हें मध्य प्रदेश उर्दू अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साहित्यिक भ्रमण: आलोक ने अमेरिका, ब्रिटेन, रूस, दक्षिण अफ्रीका, केन्या, यूएई, दोहा-कतर, कुवैत, बहरीन और कई अरब देशों सहित 20 से अधिक देशों में साहित्यिक यात्राएं की हैं। संपर्क करें : 91-989903333

अनिल कुमार चौबे
अनिल कुमार चौबे
0 Articles0 Comments

जन्म तिथि=18-11-1976 कवि नाम- डॉ अनिल चौबे माता- श्रीमती सोना देवी पिता- स्व-रामछबिला चौबे जन्म स्थान- ग्राम-पटखौली पो-मुसहरी बाजार जिला-गोपालगंज बिहार । वर्तमान पता- N1/15-11-1P नगवां लंका वाराणसी 221005 सम्पर्क सूत्र- 9415997053 7355557083 ईमेल- [email protected] शिक्षा= साहित्याचार्य, नेट(यू जी सी) विद्या-वारिधि(पीएच डी) काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU)वाराणसी सम्प्रति= स्वतंत्र लेखन कृतियाँ- (जो प्रकाशनाधीन है) 1.चकल्लस चौबे जी का 2. मेघदूत का भोजपुरी पद्यानुवाद 3.मैं ने कही ग़ज़ल मूल विधा= हास्य-व्यंग्य (1998 से अखिल भारतीय कवि सम्मेलनों में हास्य कवि के रूप सक्रिय) विदेश यात्रा= दुबई , शारजहां, बैंकॉक, नैरोबी, ओमान, सलाला, सोहार, (लंदन, बाथ,स्लाव,कार्डिफ,मनैचेस्टर, स्कॉटलैंड,आयरलैंड,नटिंघम, बरहिंग्घम,ब्लैक पुल, लेबरपुल,आदि UK के 14 शहर) TV शो-- लपेटे में नेता जी (News18इण्डिया) Z News- कवि युद्ध सम्मान= 1- काव्यशेखर (2007) युवा विद्वत परिषद वाराणसी 2.स्व.योगेश्वर दयाल वर्मा स्मृति "प्रणाम सम्मान" लखनऊ 2015 3. यूपी गौरव रत्न (श्रीचंद्रशेखर फाउंडेशन, वाराणसी) 2015 4. शैल चतुर्वेदी सम्मान 2017, लखनऊ, पहल संस्था 5 . प्रयाग रत्न (2017) हंसवाहिनी संस्था इलाहाबाद 6. काव्यकलाधर अलंकरण (उन्नाव आचमन संस्था) 2018 7. शाने ए बनारस (jcl 2020) (हास्य कवि- अनिल चौबे एक संक्षिप्त परिचय) पिछले दो दशक में हिन्दी कवि-सम्मेलन के मंचों पर हास्य कवि के रूप में उभरे कवियों में डॉ अनिल चौबे वो नाम है जो अपनी मौलिकता और प्रत्युत्पन्न मति के लिए जाना जाता है ! देश के विभिन्न मंचों पर अपनी लोकप्रिय प्रस्तुति से ख्याति प्राप्त कवि अनिल चौबे भारत के अलावा दुबई शारजहाँ बैंकॉक साउथ अफ्रीका और UK के बेल्थ, स्लाव, ब्लैकपुल,नाटिंघम, बरहिंग्घम,लंदन, मैनचेस्टर,आदि 14 शहरों में भी अपनी हास्य व्यंग्य कविताओं का जादू बिखेर चुके है ! संस्कृत साहित्य का लालित्यमय सौंदर्य और भाषायी टोन की शरारती महक उनकी बोलचाल में सहज रूप से उतरी है, जो इन्हें अन्य मंचीय कवियों से अलग तो करती ही है, विशिष्ट भी बनाती है ! उनकी रचनाएँ केवल हास्य की गुदगुदी ही नही पैदा करती बल्कि व्यंग्य की तीखी चुभन भी देती है ! उनका रचनाकार जहाँ एक ओर चहरे पर खिलखिलाहट बिखेरने में सक्षम है, वहीं अपना काव्य धर्म निर्वाह करते हुए मस्तक पर सार्थक चिंतन की गम्भीर रेखाएँ उभारने की क्षमता भी रखता है ! सहज बातचीत, हंसमुख व्यवहार, स्थितियों और घटनाओं को गहनता से समझने की अद्भुत क्षमता, व्यंग्य की आत्मा को टटोलते हुए जीवन के तमाम पहलुओं पर चर्चा और बेहिचक सच बोल सकने का आत्मबल डॉ अनिल चौबे को अन्य कवियों से विशेष बनाता है ।

अशोक चारण
अशोक चारण
0 Articles0 Comments

पिता मूलसिंह माता रामकंवर पत्नि ..सपना बारहठ मनोज्ञा और वंदिता दो बेटियाँ 31 जनवरी 1984 को जन्म हुआ कवि सम्मलेन परम्परा के वीर रस के नई पीढ़ी के ऐसे कवि जो साम्प्रदायिकता का समर्थन नही करते हुए राष्ट्रवाद की स्थापना के प्रमुख कवि है मूलतः राजस्थान के अजमेर जिले के खेड़ी महादेव गाँव के निवासी है और वर्तमान में जयपुर रहते हैं । इनके द्वारा लिखी तिरंगा, किसान,पुलवामा धरती हिंदुस्तान की, आदि कई कविताएं हैं जो देश प्रसिद्ध है । कई हिंदी संस्थाऐं इनको सम्मानित कर चुकी है कृष्ण मित्र सम्मान 2013 बालकवि बैरागी सम्मान 2018 तुलसी माखन सम्मान 2019 कृति ...प्रासाद का अवसाद (पन्नाधाय के बलिदान पर एक खण्डकाव्य) अगली कृति गीतों की होगी जो लगभग पूर्ण है और शीघ्र ही पाठकों के हाथ में होगी जो लगभग पूर्ण है और शीघ्र ही पाठकों के हाथ में होगी गीत मुक्तक ग़ज़ल और गद्य लेखन में भी अशोक चारण की अभिव्यक्ति अद्भुत है सोशियल मीडिया पर लगातार इस शैली को बहुत पसंद किया जा रहा है । सभी टीवी चैनलों (आस्था संस्कार न्यूज नेशन NDTV इंडिया टीवी ज़ी न्यूज़ ETVआदि ) पर काव्य पाठ के लिए निरंतर बुलाये जाते हैं । देश के लगभग सभी हिन्दीभाषी प्रदेशों में वीर रस के लोकप्रिय कवि के रूप में इनको स्वीकार किया गया है साहित्य कि सभी विधाओं में इनका लेखन सतत् है हिंदी साहित्य से प्रथम श्रेणी से ऍम ए कर चुके अशोक का हिन्दी भाषा के प्रति समर्पण सराहनीय है ICCR द्वारा UK के सभी प्रमुख शहरों में काव्य पाठ किया जिनमे BELFAST ,DUBLIN, LIVERPOOL, EDINBURGH, GLASGOW, MANCHESTER, NOTTINGHAM, BIRMINGHAM, CARDIFF, BRISTOL SLOUGH, LONDON शामिल है।

चेतन चर्चित
चेतन चर्चित
7 Articles0 Comments

चेतन चर्चित भारत के सबसे युवा कवि हैं, वे देश के सबसे लोकप्रिय हसिया कवि में से एक हैं। उनकी व्यंग्य और टिप्पणियाँ सुर्खियाँ बटोरती हैं। उनके थप्पड़ स्टिक प्रदर्शन दर्शकों को हँसी से भरपूर बनाते हैं। उनकी कविताएं समाज को हंसी के झुंड के साथ संदेश देती हैं। चेतन चार्चित ने अपने अद्भुत काव्यात्मक छंदों से कई लोगों के दिलों तक पहुँच प्राप्त की है। वह समाज को आईना दिखाने के लिए अपनी प्रतिभा दिखाते हैं। वह केवल एक शानदार कलाकार नहीं है, बल्कि एक जादूगर के रूप में माना जा सकता है जो लोगों पर मंत्र दे सकता है और हँसी चिकित्सा को दूर कर सकता है। कवि को बौनापन का सामना करना पड़ा है, लेकिन खुद को हीन भावना से ग्रसित करने के बजाय, उसने इसे अपने द्वारा खड़े होने की ताकत के रूप में घोषित किया। और वास्तव में इस आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता के साथ सफलता की ओर उनकी निरंतर यात्रा के दौरान कुछ भी नहीं आया। अपने छंदों के साथ वह लोगों के दिलों को प्रभावित और आगे बढ़ाता है। वह उन कवियों में से एक हैं, जो रूढ़िवादी मानदंडों से परे हैं। उन्होंने सभी बाधाओं को पार कर लिया है और इस काव्य यात्रा में इतिहास को चिह्नित करने के रास्ते पर हैं, जिसमें उनकी कलम से प्राप्त अद्भुत खजाने हैं। वह सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं और देश में चल रहे विभिन्न मुद्दों पर टिप्पणी करते रहते हैं। उनका मंच संचलन बहुत जीवंत और ऊर्जा से भरपूर है। उनके प्रदर्शन की अनूठी शैली दर्शकों को सुनने के साथ-साथ उनके पूरे प्रदर्शन का आनंद लेती है। आमतौर पर लोग उन्हें "छोटा पैकेट बड़ा ढाका" के रूप में देखते हैं देशभर में 300 से ज्यादा कवि-सम्मेलन हुए। विभिन्न मीडिया यानि दूरदर्शन, स्टार प्लस, SAB TV, Zee News, News indian 18, Big Magic, Tv9 Bharatvarsh, BBC hindi, के साथ प्रसारित। टेलिविज़न शो की लोकप्रियता को द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज, हसने का मुख्या कोन, वाह कवि जी वचाई पे चुटकुले, और कवि युद्ध और कई अन्य हास्य कवि चेतन चारचित द्वारा लिखित व्यंग्य और लेख लगातार पत्रिका में प्रकाशित होते रहते हैं।

दिलीप शर्मा
दिलीप शर्मा
8 Articles0 Comments

कवि दिलीप शर्मा  आकाशवाणी से शुरुवात. छोटे मंचो से लेकर सीधे पुणे फेस्टिवल जैसे प्रतिष्ठित मंच पर अपनी प्रस्तुति । उसके बाद देश भर के सारे ख्याति प्राप्त कवियों के संग देश के बड़े शहरों में अपनी सफल प्रस्तुति। पुणे के लिए एक जाना माना नाम और पूरे देश मे पुणे का परचम लहराने का सौभाग्य। महाराष्ट्र साहित्य अकादमी द्वारा पहली किताब प्यासा पानी प्रकाशित । Etc चेनल, के अंगूर , सब टीवी में वाह वाह ,दबंग चेनल पर अपनी प्रस्तुति । पुणे के अग्रवाल समाज का 20 साल से सफल संयोजन  । लायन्स, रोटरी जैन सोशल, उमेद परिवार, जैसि संस्थाओं के फंड रीजन हेतु सफल संयोजन। बिहार के 9 शहरों में श्रृंखला बद्ध प्रतिष्ठित पेपर के प्रोग्राम में काव्यपाठ । पुणे के आज का आनंद जैसे हिंदी के प्रतिष्ठित पेपर में लगातार अपनी कविताएं प्रकाशित होना। भक्ति संगीत में अपनी विशेष पहचान। जैन भक्ति संगीत एक कैसेट प्रकाशित।

प्रियांशु गजेन्द्र
प्रियांशु गजेन्द्र
8 Articles0 Comments

नाम - गजेन्द्र कुमार सिंह उपनाम - प्रियांशु गजेन्द्र जन्म - 03-03-1979 पिता का नाम - श्री कृष्ण कुमार सिंह पता - ग्राम तोरईगाँव, पोस्ट डिगसरी, जिला बाराबंकी, पिन कोड - 225409 शिक्षा- परास्नातक (हिन्दी), एल0एल0बी0 प्रकाशन- साधना सुमन, साधनाम्बर, साधनाक्षर, साधनांजलि तथा साधना के स्वर(सामूहिक काव्यसंग्रह) राष्ट्रधर्म, गुलाल, इन्दु, अवधज्योति, दैनिक जागरण, हिन्दुस्तान, अमरउजाला, आदि पत्र पत्रिकाओं में निरन्तर प्रकाषन। उपलब्धि- दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश,मध्य प्रदेश,बिहार, महाराष्ट्र छत्तीसगढ़ आदि समस्त हिन्दी भाषी प्रदेशों में तथा विभिन्न समाचार चैनलों  डीडी1,आज तक,जी न्यूज़,न्यूज़१८ आदि पर अनेक बार राट्रीय एकता अखण्डता को सर्मिर्पत काव्यपाठ तथा मंच संचालन। सम्मान - ❖ अखिल भारतीय   मंचीय काविपीठ द्वारा महामहिम राज्यपाल श्री केसरी नाथ त्रिपाठी के कर कमलों से युवा गीतकार ’’देवल आषीष’’ सम्मान।२०१४ ❖ गीत चाँदनी’’ जयपुर द्वारा ’’गीत गन्धर्व’’ सम्मान। ❖ सरला नारायण ट्रस्ट द्वारा डॉ विष्णु सक्सेना सम्मान २०१९ ❖ अनुरंजनी लखीमपुर उत्तरप्रदेश द्वारा ’’जागृति’’ सम्मान। ❖ राष्ट्रीय कविसंगम नईदिल्ली द्वारा ’’दस्तक’’ सम्मान। ❖ अवध भारती समित हैदरगढ बाराबंकी द्वारा ’’अवधश्री’’ सम्मान। ❖ बसन्त साहित्य संस्था बाराबंकी द्वारा ’’बाबा जगजीवन साहब स्मृति सम्मान के अतिरिक्त देश की विभिन्न हिन्दी प्रसारक समितियों द्वारा अनेक सम्मान प्राप्त। योगदान - ➢ प्रकाशनसचिव-साधना साहित्य संस्थान बाराबंकी, उत्तरप्रदेश।

डॉ. कमलेश शर्मा
डॉ. कमलेश शर्मा
3 Articles0 Comments

पिता का नाम स्व.श्री चौधरी बृजकिशोर शर्मा माता का नाम स्व.श्रीमती विद्या देवी जन्म तिथि 29 जून 1968 जन्म स्थान ग्राम - चाचर , पोस्ट - चाचर थाना - फूफ , तहसील- अटेर जिला - भिण्ड  (मध्यप्रदेश) शिक्षा एम.ए. (इतिहास ,अंग्रेजी ,हिंदी) बी.एड. पीएच.डी (हिंदी) संप्रति : प्रवक्ता इतिहास एस एन इण्टर कॉलेज इटावा 28 वर्षों से हिंदी काव्य मंचों पर सक्रिय लालकिला कवि सम्मेलन में अनेक बार काव्य पाठ पुस्तकें प्रकाशित : पीर किससे कहें (गीत संग्रह) प्रकाशित 2007 अगर गांधी तुम होते (गीत संग्रह ) प्रकाशित 2014 मुक्तक कमलेश के (मुक्तक संग्रह) प्रकाशित 2019 हिंदी की सेवा के लिए सम्मान व अलंकरण: उ.प्र. हिंदी साहित्य सम्मेलन सम्मान -1998 साहित्य वाचस्पति अलंकरण - 1999 साहित्य भारती उन्नाव अवधेश दुबे सम्मान -1999 सरस्वती साधना परिषद, मैनपुरी हाजरा युवा कवि सम्मान- 2001 कला संगम ,कोलकाता ( प.बंगाल) शिशु वल्लभ अलंकरण -2002 इटावा हिंदी सेवा निधि शिवमंगल सिंह सुमन सम्मान -2002 महाकवि गंगहरि संस्थान इटावा त्रिवेणी साहित्य पुरुस्कार -2004 आस्था संस्थान ,बांकुड़ा (प.बंगाल) विशवनाथ भटेले राजेन्द्र सिंह सेंगर सम्मान -2006 ,हिंदी विकास परिषद विधूना केसरवानी स्मृति युवा कवि सम्मान - 2006 युवा उद्योग व्यापार मण्डल ,इटावा साहित्य सेवा सम्मान -2006 शहीद सेवा समिति ,झांसी खेड़ापति सम्मान -2007 मालवा साहित्य धार (म.प्र) पं. दीनदयाल उपाध्याय सम्मान -2007 दीनदयाल शोध संस्थान लखनऊ कवि कुलभूषण सम्मान -2007 सार्वभौम सनातन धर्म महासभा नई दिल्ली इटावा रत्न -2008 जायणट्स इंटरनेशनल ग्रुप कवि कौशलेंद्र सम्मान -2008 श्री नारायण विद्या आश्रम ,किसनी मैनपुरी रामगोपाल बंसल साहित्य पुरुस्कार -2008 मध्यप्रदेश साहित्य सभा जनकवि उर्मिलेश शंखधार पुरुस्कार -2009 अ. भा.मंचीय कवि पीठ उत्तर प्रदेश आचार्य रूपेश सम्मान -2010 औरैया हिंदी प्रोत्साहन निधि औरैया वेदप्रकाश गुप्ता सम्मान -2012 अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद मैनपुरी कीर्तिमान सम्मान - 2012 कीर्तिमान साहित्यिक व सांस्कृतिक संस्था मैहर म.प्र. काव्य श्री सम्मान 2017 - अमर उजाला आगरा अन्य विशेष सम्मान : नगर पंचायत करहल मैनपुरी द्वारा सम्मान स्वरूप एक सड़क का नामकरण "कवि कमलेश शर्मा मार्ग" 2004 में किया गया तत्कालीन लोकसभाध्यक्ष ,महामहिम राज्यपाल कर्नाटक व हिमाचल प्रदेश द्वारा सम्मान

कविता तिवारी
कविता तिवारी
3 Articles0 Comments

जन्म : 07/05/1990 स्थान : लखनऊ पिता का नाम : श्री रतन तिवारी माता का नाम : श्रीमती सुमन तिवारी शिक्षा : बी.एड., एम.ए. (हिंदी), नेट उत्तीर्ण काव्य - यात्रा : 13 अगस्त 2005 पहला कवि सम्मेलन अब तक लगभग 1000 से अधिक मंचों तथा विभिन्न टी.वी. एवं रेडियो चैनल से काव्य पाठ उपलब्धि : सुभद्रा कुमारी चौहान सम्मान, महादेवी वर्मा स्मृति सम्मान, सुमित्रा कुमारी सिन्हा सम्मान, निराला सम्मान, अमृत लाल नागर सम्मान, दिनकर सम्मान, युवा रत्न सम्मान, अवध गौरव सम्मान, दिव्यांकुर सम्मान, स्वामी विवेकानंद सम्मान, काव्य गौरव सम्मान, युवा गौरव सम्मान, अटल स्मृति सम्मान, कीर्तिमान सम्मान, साहित्य भारती सम्मान, ब्राह्मण कुलभूषण सम्मान, स्व. देवल आशीष सम्मान, महाराजा देवी बक्श सिंह स्मृति सम्मान, रानी लक्ष्मी बाई सम्मान इत्यादि.

डॉ. माजिद देवबंदी
डॉ. माजिद देवबंदी
10 Articles0 Comments

डॉ. माजिद देवबंदी ने 1978 से राष्ट्रीय करियर के लेखक, कवि और तुलना के रूप में अपने करियर को आकार दिया। उन्होंने पूरे भारत और अन्य देशों के सैकड़ों साहित्यिक मुशायरों (काव्य संगोष्ठियों), सम्मेलनों और सेमिनारों में भाग लिया। वह उर्दू सर्कल में एक प्रसिद्ध और लोकप्रिय व्यक्ति हैं। उन्हें अखबारों, पत्रिकाओं और ऑल इंडिया रेडियो के कई स्टेशनों और चैनलों की संख्या में उनके प्रदर्शन के लिए कवरेज मिला है। सभी हाथों पर यह सहमति है कि वह उर्दू दुनिया के शीर्ष कवियों में से एक है। नाम-  मजीद सिद्दीकी पिता का नाम: (एल) एम जाहिद सिद्दीकी जन्म तिथि: 7 जुलाई, 1964 जन्म का स्थान: देवबंद (U.P) पता  : S-3/24,मीजान रोड, जोगाबाई एक्सटेंशन, जामिया नगर, नई दिल्ली -110025 पता (देवबंद): बरेली भैयन स्ट्रीट, देवबंद-247,554 जिला। सहारनपुर (यू.पी.) वेबसाइट: www.majiddeobandi.in ई मेल पते: [email protected] [email protected] संपर्क (दिल्ली): 9810859786 (M) 9968269786 (एम) शैक्षिक योग्यता: M.A. (उर्दू) पीएच.डी. पुरूस्कार प्राप्त: 16 जनवरी, 1993 को उर्दू कविता के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार, माननीय डॉ. शंकर दयाल शर्मा, नई दिल्ली के राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किया गया। अबुल कलाम आज़ाद उर्दू काव्य पुरस्कार 1995, 6 दिसंबर, 1995 को "अखिल भारतीय अल्पसंख्यक मोर्चा" से, डॉ. जगन्नाथ मिश्रा, ग्रामीण अल्पसंख्यक और रोज़गार मंत्री, भारत सरकार द्वारा प्रदान किया गया। 9 अक्टूबर, 1996 को "इंडियन कल्चरल सोसाइटी" (दिल्ली का एक साहित्यिक संगठन) से उर्दू काव्य पुरस्कार 1996, भारत सरकार के गृह राज्य मंत्री श्री मकबूल डार द्वारा प्रदान किया गया। "नवाज़" (दिल्ली का एक साहित्यिक संगठन) से 26 नवंबर 1996 को नई नवाज़ उर्दू काव्य पुरस्कार 1996, भारत सरकार के गृह राज्य मंत्री श्री मकबूल डार द्वारा सम्मानित किया गया। मिर्ज़ा ग़ालिब उर्दू शायरी पुरस्कार 1998 5 जुलाई 1998 को, "बज़्म-ए-फ़िक्र-ओ-ख्याल" (दिल्ली का एक साहित्यिक संगठन), संसद सदस्य श्री वसीम अहमद द्वारा प्रदान किया गया। डॉ. एस फारूकी, चेयरमैन, अंतर्राष्ट्रीय अस्पताल द्वारा सम्मानित किया गया, “ऑल इंडिया तस्मिया एजुकेशनल एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी, दिल्ली” से 14 सितंबर, 1999 को तस्मिया उर्दू काव्य पुरस्कार 1999 फ़ैज़ा इब्न-ए-फैज़ी उर्दू काव्य पुरस्कार 27 मई, 2000 को “मऊ स्पोर्टिंग क्लब” मऊ (यू.पी.) से, अखिल भारतीय रबीता समिति के अध्यक्ष प्रो। मलिकज़ादा मंज़ूर अहमद द्वारा सम्मानित किया गया। उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी, लखनऊ (U.P.) की ओर से उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी पुरस्कार 2000, काव्य पुस्तक "लाहू लाहू आंखें" पर। उर्दू शिक्षक संघ से सर्वश्रेष्ठ उर्दू कविता पुरस्कार 2001, 13 जनवरी, 2001 को देवबंद, जनाब हसन हाशमी, संपादक, मासिक तिलिस्मी दुनीया, देवबंद द्वारा सम्मानित किया गया। उत्तर प्रदेश के हिंदी विद्या कान्त शास्त्री, उत्तर प्रदेश के हिंदी उर्दू पुरस्कार समिति, लखनऊ से 17 अप्रैल, 2001 को सर्वश्रेष्ठ उर्दू कवि सम्मान। अजीज बाराबंकी नातिया काव्य अवार्ड 2001, 9 जून 2001 को, “मुस्लिम एसोसिएशन”, लखनऊ (U.P.) से, डॉ। ए.आर.किदवई, पूर्व राज्यपाल, बिहार और पश्चिम बंगाल द्वारा सम्मानित किया गया। आइना-ए-हक उर्दू काव्य अवार्ड 2002, 16 अगस्त, 2002 को, "आइना-ए-हक" (मासिक), दिल्ली से, संसद के पूर्व सदस्य श्री बेकल उतसाही द्वारा सम्मानित किया गया। “इस्लामिक सर्च एंड रिसर्च फाउंडेशन”, सहारनपुर (U.P.) से 22 दिसंबर, 2002 को आफाक-ए-उर्दू पुरस्कार 2002, अल्पसंख्यक आयोग, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष श्री आशीष कुमार मैसी द्वारा प्रदान किया गया। कैफ़ी आज़मी उर्दू काव्य पुरस्कार 2005 22 फरवरी, 2005 को, "कैफ़ी आज़मी मेमोरियल सोसाइटी" (दिल्ली का एक साहित्यिक संगठन), लोकसभा अध्यक्ष, श्री सोमनाथ चटर्जी द्वारा प्रदान किया गया। उर्दू सभा उर्दू काव्य पुरस्कार 2005, 7 मार्च, 2005 को, "उर्दू सभा" (दिल्ली का एक साहित्यिक संगठन), दिल्ली विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री शोएब इकबाल द्वारा प्रदान किया गया। राशीद मसूद उर्दू काव्य पुरस्कार 2006, 2 मार्च 2006 को, "रशीद मसूद फाउंडेशन" से, गंगोह (यू.पी.), श्री रशीद मसूद, संसद सदस्य (पूर्व स्वास्थ्य मंत्री, भारत सरकार) द्वारा प्रदान किया गया। फख्र-ए-देवबंद पुरस्कार 19 जून, 2006 को बज़म-ए-अदब (देवबंद का एक साहित्यिक संगठन), जिला सहकारी बैंक, सहारनपुर के अध्यक्ष श्री अरुण सिंह राणा द्वारा प्रदान किया गया। कमल उर्दू अकादमी और पंजाब एसोसिएशन ((मद्रास के साहित्यिक संगठन) से 10 फरवरी, 2007 को कमल मद्रासी उर्दू कविता पुरस्कार 2006, कस्टम, चेन्नई के मुख्य आयुक्त, श्री ए.के. श्रीवास्तव द्वारा सम्मानित किया गया। 2 फरवरी, 2008 को अल्लामा इकबाल उर्दू काव्य पुरस्कार 2007, गर्ल्स एजुकेशन एंड वेलफेयर ट्रस्ट, मद्रास से, तमिलनाडु के राज्यपाल, श्री सुरजीत सिंह बरनाला द्वारा प्रदान किया गया। मौलाना मो। अली जौहर उर्दू काव्य पुरस्कार 2008, 18 जुलाई, 2008 को "अमीर खुसरो फाउंडेशन" गंजडुंडवारा (U.P.) से, ऑल इंडिया उर्दू राब्ता कमेटी के अध्यक्ष प्रो। मलिकज़ादा मंजूर अहमद द्वारा प्रदान किया गया। 15 अगस्त, 2009 को “शिखर” (ए सोशल एंड लिटरेरी ऑर्गनाइजेशन) की ओर से प्रशंसा पुरस्कार 2009, साउथ ईस्ट दिल्ली पुलिस के श्री एस। के। जैन, आईपीएस, द्वारा दिया गया। मौलाना काशिफ नातिया काव्य पुरस्कार 2009 ,18 जुलाई, 2009 “अंजुमन फिदायन ए अदब, राजूपुर जिला से। सहारनपुर, नगर पालिका बोर्ड, देवबंद के अध्यक्ष, श्री हसीब सिद्दीकी द्वारा सम्मानित किया गया। स्पीकर अब्दुल शकूर पुरस्कार 2010 , 26 मार्च, 2011 को “सलीमुल हिंद वेलफेयर ट्रस्ट, मधुबनी (बिहार), बिहार के माननीय राज्यपाल श्री देवानंद कोनवर द्वारा प्रदान किया गया। वकारुल मुल्क पुरस्कार 2010 ,27 मई, 2011 को "माव्रिक इंटरनेशनल अकादमी, अमरोहा (यूपी) से श्री शफीकुर रहमान’ बर्क '(संसद सदस्य) द्वारा सम्मानित किया गया। 9 मई, 2013 को फारग ई उर्दू अवार्ड 2013, “अंजुमन फरोग ए उर्दू, कुवैत से, श्री सईद अबरार हुसैन, कुवैत में पाकिस्तान के राजदूत द्वारा सम्मानित किया गया। 6 जुलाई, 2013 को "अंजुमन फिदायन ए अदब, राजूपुर जिला से अदबी खिदमत पुरस्कार 2013। श्री राजेश कुमार सिंह, एस.डी.एम., देवबंद द्वारा सम्मानित सहारनपुर राष्ट्रीय सद्भाव काव्य पुरस्कार 2013 6 सितंबर, 2013 को "फेस ग्रुप (मीडिया एंड जर्नलिज्म ऑर्गनाइजेशन), नई दिल्ली से, श्री जफर अली नकवी, एम.पी. और श्री सफदर एच खान, अध्यक्ष, अल्पसंख्यक आयोग, सरकार। एन.सी.टी. दिल्ली का। आबूरो-ए-ग़ज़ल पुरस्कार 2013 ,25 फरवरी, 2014 को “अंजुमन उरोज ए अदब, रुड़की (उत्तराखंड), उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री हरीश रावत द्वारा प्रदान किया गया। फख्र ए उर्दू काव्य पुरस्कार 2015, 17 मई, 2015 को मुशायरा समिति, मैला नौचंदी, मेरठ से, पुलिस महानिरीक्षक, मेरठ (यू.पी.) द्वारा सम्मानित किया गया। फख्र ए उर्दू अदब अवार्ड 2015, 16 सितंबर, 2015 को उर्दू कल्चरल सोसाइटी, दिल्ली से, प्रो। इरतिज़ा करीम, निर्देशक, एन.सी.पी.यू., दिल्ली द्वारा सम्मानित किया गया। शिखर उर्दू कविता पुरस्कार 2015, 10 अक्टूबर, 2015 को शिखर (एक सांस्कृतिक और सामाजिक संगठन) नई दिल्ली से दिल्ली के उपराज्यपाल श्री अजय चौधरी, ओ.एस.डी. 29 नवंबर, 2015 को मौलाना हाली उर्दू काव्य पुरस्कार 2015, अंसारी इस्लामिक कल्चर सेंटर (ए कल्चरल एंड सोशल ऑर्गनाइजेशन) नई दिल्ली द्वारा उर्दू के प्रसिद्ध सीटरिक श्री मुशर्रफ आलम ज़ौकी द्वारा प्रदान किया गया। फख्र ए शायर ओ अदब अवार्ड 2015, 26 दिसंबर, 2015 को कायनात उर्दू शायर ओ अदब सोसाइटी (ए कल्चरल एंड सोशल ऑर्गनाइजेशन) अमरावती (एम.एस.) द्वारा संसद सदस्य श्री तारिक अनवर द्वारा प्रदान किया गया। अलीशानम फाउंडेशन (दिल्ली का एक सांस्कृतिक और सामाजिक संगठन) से 13 मार्च, 2016 को निसान ई याद्गार कविता पुरस्कार 2016, भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री डॉ। हर्ष वर्धन द्वारा प्रदान किया गया। डॉ. अंजुम जमाली काव्य पुरस्कार 2016 ,14 मार्च, 2016 को डॉ। अंजुम जमाली फाउंडेशन (ए कल्चरल एंड सोशल ऑर्गनाइजेशन ऑफ मेरठ यू.पी.) से, श्री शाहिद मंज़ूर, मंत्री, यूपी सरकार द्वारा सम्मानित किया गया। उत्तर प्रदेश हिंदी उर्दू पुरस्कार समिति, लखनऊ से 18 अप्रैल, 2016 को सर्वश्रेष्ठ उर्दू कवि पुरस्कार 2016, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक द्वारा प्रदान किया गया। कौमी यक्षजी काव्य पुरस्कार 2016 को 9 जुलाई, 2016 को ऑल इंडिया फ़ोरम फ़ॉर को-ऑर्डिनटोनोफ़ ऑल लैंग्वेजेस, (ए लिटरेरी एंड कल्चरल ऑर्गेनाइज़ेशन, नई दिल्ली) से पद्मभूषण डॉ। विन्देशेश पाठक, संस्थापक अध्यक्ष, शलभ इंटरनेशनल, नई दिल्ली द्वारा सम्मानित किया गया। हाफिज मेरठिया उर्दू काव्य पुरस्कार 2016, 29 फरवरी, 2016 को अलमी यम ए उर्दू समिति, नई दिल्ली से, दिनेश सिंह, दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो के द्वारा सम्मानित किया गया। 25 फरवरी, 2017 को अक्षरा फाउंडेशन से बरेली के श्री आलोक यादव द्वारा सम्मानित किया गया। कमिश्नर (P.F), बरेली। महानंद मिश्रा मेमोरियल अवार्ड 2017, 17 सितंबर, 2017 को भारतीय साहित्य उत्थान समिति, दिल्ली से, भारतीय साहित्य समिति, दिल्ली के अध्यक्ष श्री बेबाक जौनपुरी द्वारा प्रदान किया गया। वकार ई देवबंद (देवबंद का गर्व) 2017 ,17 अक्टूबर, 2017 को बज्म ए अदब से, देवबंद पद्मश्री भारत भूषण योगी (योग के महान संत), सहारनपुर (यू.पी.) द्वारा सम्मानित किया गया। फख्र ई उर्दू अदब अवार्ड 2017, 7 दिसंबर, 2017 को हिंदू मुस्लिम एकता समिति, मंगलौर (उत्तराखंड) से, किन्नर जावेद अली, सदस्य, प्लानिंग कमीशन, उत्तराखंड द्वारा प्रदान किया गया। राष्ट्रीय एकता काव्य पुरस्कार 2018, 1 मई, 2018 को मुस्लिम समिति, अमरोहा (यू.पी.) से, आचार्य प्रमोद कृष्णम, संस्थापक, कल्कि धाम फाउंडेशन, भारत द्वारा प्रदान किया गया। ​​28 अगस्त, 2018 को कास्वान ई खुलोस (ए लिटरेरी एंड सोशल ऑर्गनाइजेशन), अमरोहा (यू.पी.) की ओर से पसबन ई अदब अवार्ड 2018, श्री अज़ीम अमरोही, अध्यक्ष, अलेमी मार्सिया सेंटर द्वारा प्रदान किया गया। 27 दिसंबर, 2018 को फिक्र ई इकबाल काव्य पुरस्कार 2018, तालुका कल्याण और शिक्षा ट्रस्ट, अंकलेश्वर (गुजरात) से, श्री गुलाब खान के रौमा, अल्पसंख्यक विभाग, गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष द्वारा सम्मानित किया गया। 22 जून, 2019 को फरग ई उर्दू अवार्ड 2019, तिलंगाना स्टेट उर्दू अकादमी, श्री रहीमुद्दीन अंसारी, अध्यक्ष, तिलंगाना स्टेट उर्दू अकादमी, हैदराबाद (टी.एस.) द्वारा प्रदान किया गया। मजरूह सुल्तानपुरी अदबी खिदमत अवार्ड 2019 30 अक्टूबर, 2019 को मजरूह सुल्तानपुरी वेलफेयर सोसाइटी, लखनऊ से, श्री अबरार अहमद, एम.एल.ए. सुल्तानपुर (यू.पी.) प्रकाशन: ग़ज़ल का काव्य संग्रह "लहू लहू आँखें" (उर्दू) जिसमें 2000 में प्रकाशित कविताओं का चयन किया गया है। 2006 में प्रकाशित Na'ats में शामिल नॉट "ZIKR-E-RASOOL" का काव्य संग्रह। ग़ज़ल का काव्य संग्रह " लहू लहू आँखें " (हिंदी) जिसमें 2007 में प्रकाशित चयनित कविताएँ हैं। 2007 में प्रकाशित ख्वाजा हसन निजामी के जीवन और कार्य पर एक पुस्तक जिसका नाम “ख्वाजा हसन निज़ामी: ईके तेहसीईक्यूआई मुतलिया” है। इस पुस्तक को जे.एम.आई., ए.एम.यू. के पाठ्यक्रम में भी शामिल किया गया है। और अन्य विश्वविद्यालयों। ग़ज़लों का काव्य संग्रह “शहाक-ए-दिल” जिसमें 2011 में प्रकाशित कविताओं का चयन है। ग़ज़ल का काव्य संग्रह "शेख-ए-दिल" (हिंदी) जिसमें 2012 में प्रकाशित चयनित कविताएँ हैं। 2015 में प्रकाशित “मेरी तेहरीरें” नाम से नासरी माज़मीन (लेखन) की एक पुस्तक। ग़ज़ल का काव्य संग्रह "जुगनू बोलता है" जिसमें 2016 में प्रकाशित कविताओं का चयन किया गया है। 2018 में प्रकाशित Na'ats में शामिल नॉट "WO MERA NABI HAI" का काव्य संग्रह। अन्य: उर्दू अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष, एन.सी.टी. दिल्ली । पूर्व सदस्य, राष्ट्रीय निगरानी समिति अल्पसंख्यक शिक्षा, भारत  सरकार के लिए। संस्थापक अध्यक्ष, अंतर्राष्ट्रीय सूफी मिशन, नई दिल्ली -110025। अध्यक्ष, अखिल भारतीय अल्पसंख्यक शिक्षा ट्रस्ट (रेग), नई दिल्ली -110025। सदस्य, भारत इस्लामिक कल्चरल सेंटर (IICC), नई दिल्ली सदस्य, इंडिया इंटरनेशनल सेंटर (IIC), नई दिल्ली संरक्षक, एक उर्दू दैनिक "क़ौमी मीज़ान" नई दिल्ली -110025 से प्रकाशित। नई दिल्ली -110025 से प्रकाशित एक उर्दू पत्रिका "अदबी मीज़ान" के संपादक। सहायक  ,जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, जामिया नगर, नई दिल्ली -110025 से 2015 तक एक उर्दू त्रैमासिक पत्रिका "टैडर्स नाम" के संपादक। नई दिल्ली -110025 के महासचिव, "मीज़ान" (ए पंजीकृत साहित्यिक, सांस्कृतिक, सामाजिक और शैक्षिक समाज)। महासचिव, "भारत की नई परिषद", नई दिल्ली -110001। ई.एस.डी. में एक आकस्मिक उद्घोषक के रूप में काम किया। (उर्दू सेवा), ऑल इंडिया रेडियो, नई दिल्ली 1983 से 2002 तक। ई.एस.डी. में प्रोडक्शन असिस्टेंट के रूप में काम किया। (उर्दू सेवा), ऑल इंडिया रेडियो, नई दिल्ली दस वर्षों के लिए। मेरठ विश्वविद्यालय के एक छात्र ने मुझ पर पीएचडी पूरी की है और लाहौर विश्वविद्यालय (पाकिस्तान) के एक अन्य छात्र ने वर्तमान में मुझ पर एम. फिल पूरा किया है। दूरदर्शन केंद्र (भारतीय टेलीविजन) दिल्ली में 10 साल तक न्यूज रीडर के रूप में काम किया। दिल्ली से प्रकाशित एक दैनिक उर्दू समाचार पत्र “सच की आवाज़” में अगस्त, 2018 से हर हफ्ते नियमित रूप से एक कॉलम प्रकाशित किया जाता है। विदेश यात्रा: सऊदी अरब, पाकिस्तान, दुबई, शारजाह, एलन, अबू धाबी (यूएई), दोहा (कतर), मॉरीशस, ऑस्ट्रेलिया, मस्कट (ओमान), बहरीन, कुवैत, ईरान, इराक, नेपाल और इराक के साम्राज्य में अंतर्राष्ट्रीय काव्य संगोष्ठी (मुशायरा) में भाग लिया। सक्रिय रूप से विभिन्न साहित्यिक और सांस्कृतिक संगठनों से जुड़े हैं, जो उर्दू भाषा के प्रचार के लिए काम कर रहे हैं।

मानसी द्विवेदी
मानसी द्विवेदी
4 Articles0 Comments

नाम: डॉ. मानसी द्विवेदी शिक्षा: एम.ए.(हिन्दी, शिक्षाशास्त्र, समाजशास्त्र), पीएच.डी., बी.एड., एम.एड। जन्मतिथि व स्थान: 5 जुलाई 1984, बांसगांव, अयोध्या (उत्तर प्रदेश) पिता: पण्डित खुशीराम दुबे, राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित, ‘गौतम बुद्ध चरित’ महाकाव्य के रचियता। प्रकाशित कृतियां: कविता संग्रह- ‘एक अंजुरी धूप’, ‘दरकती दीवार’ शैक्षिक पुस्तक: शिक्षा में नवीन प्रवृत्तियां, मनोवैज्ञानिक मूल्यांकन एवं सांख्यिकी। जीवन वृत्त पर प्रकाशित पुस्तक: ‘एक और सीता’- लेखक मृगेन्द्र निवास: डॉ. मानसी द्विवेदी टॉवर नं. 5, फ्लैट नं. 101, ओमेगा ग्रीन, तिवारीगंज, लखनऊ सम्मान: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा डॉ. रांगेय राघव सम्मान। -विधानसभा अध्यक्ष ह्दयनारायण दीक्षित द्वारा अवध रत्न सम्मान। -विधि एवं कानून मंत्री उ.प्र. द्वारा अयोध्या रत्न सम्मान। - महा निदेशक पुलिस, त्रिपुरा द्वारा एवं दुबई शेख ऑडिटोरियम एसोसिएशन द्वारा सम्मानित। - लखनऊ प्रेस क्लब द्वारा सृजन सम्मान। - हिंदी अकादमी दिल्ली द्वारा युवा सम्मान। - प्रयागराज के कुंभ मेले के बहुतायत मंचों का कुशल संचालन। - अयोध्या के एतिहासिक दीपोत्सव का कुशल संचालन। - इसके अलावा करीब 200 सम्मान-पत्र। - 100 से ज्यादा कवि सम्मेलन का कुशल संचालन एवं देश-विदेश में काव्यपाठ। - प्रिंट मीडिया एवं दूरदर्शन के कार्यक्रमों का संयोजन एवं संचालन निरंतर। मो.नं.- 8765101064  Email: [email protected] सम्प्रति: अध्ययन, अध्यापन (उत्तरप्रदेश सरकार) एवं लेखन।

मुमताज़ नसीम
मुमताज़ नसीम
6 Articles0 Comments

मुमताज नसीम भारत और विदेशों में कवि सम्मेलनों और मुशायरा का एक सुप्रसिद्ध नाम है वह सब की बहुत प्यारी और लोकप्रिय कवित्री हैं पिछले करीब 10- 12 सालों से गीत ग़ज़ल और नज़रों से 1000 से ज्यादा कवि सम्मेलन और मुशायरा में कविता पाठ कर चुकी हैं मुमताज नसीम भारत की युवा पीढ़ी में खासतौर से बहुत पसंद की जाती हैं उनकी दो किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं उनके लेख और कविताएं नियमित रूप से विभिन्न समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में प्रकाशित होते हैं मुमताज नसीम दूरदर्शन NDTV आजतक के साथ अन्य कई टीवी चैनल पर काव्या पाठ करती हैं वह दुबई सऊदी अरेबिया मलेशिया नेहरू भी इंग्लैंड और यूएसए मैं भी अपना कविता पाठ कर चुकी हैं उन्हें उर्दू कविताओं के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है   2019 के एक कवि सम्मेलन में हमने उन्हें अमेरिका बुलाया था और उन्हें बहुत पसंद किया गया था 2020 में उन्हें एक बार फिर एक कवि सम्मेलन के लिए बुलाया था पर Corona वायरस के कारण वह कवि सम्मेलन कैंसिल करना पड़ा   मुमताज जी लिखती तो बहुत अच्छा है ही उससे ज्यादा अच्छा पढ़ती  है और उससे कहीं ज्यादा अच्छी इंसान हैं अपनी मधुर आवाज और प्रस्तुत करने के अंदाज से सभी श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर लेती हैं यह मैं ही नहीं कह रहा हूं यह सारी दुनिया कहती है और उनको सुनने के बाद आप भी यही कहेंगे तो आइए अब सुनते हैं मुमताज नसीम जी को।

पंकज प्रसून
पंकज प्रसून
9 Articles0 Comments

पंकज प्रसून एक युवा कवि हैं, जो अपने व्यावहारिक लेखन के लिए जाने जाते हैं यानी कविताएँ, व्यंग्य, स्तंभ लेख और बलात्कार आदि। पंकज प्रसून वर्तमान मामलों, सामाजिक-राजनीतिक व्यंग्य और हास्य विज्ञान कविता जैसे विषयों पर एक विशेषज्ञ लेखक हैं।   पुरस्कार -   डॉ। रांगेय राघव द्वारा उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान, उत्तर प्रदेश सरकार, 2015   उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान द्वारा के एन भाल पुरस्कार, यूपी सरकार, 2017   छुपा रुस्तम पुरस्कार- वाह वाह क्या बात है, SAB TV, 2013 अखिल भारतीय सर्व समाज समिति, नोएडा, 2020 द्वारा विंजय विभोषण सम्मान   वाग्धारा, मुंबई 2020 द्वारा यंग अचीवर अवार्ड   के पी सक्सेना वांग्य सम्मान, रीड पब्लिकेशन, प्रयागराज, 2020 द्वारा   उत्कृष्ट युवा पुरस्कार जनशरणम, नई दिल्ली, 2017 द्वारा   विवेकानंद युवा सम्मान, गाइड समाज कल्याण संस्थान, लखनऊ, 2019 द्वारा     नसीम अख्तर सिद्दीकी अवार्ड, नसीम अख्तर सिद्दीकी अकादमी, लखनऊ, 2015 द्वारा सत्यपथ, लखनऊ, 2016 द्वारा हस्तक्षेत्र इंडिया अवार्ड   विकास आईएएस सोसाइटी, लखनऊ, 2016 द्वारा अस्तित्व सम्मान   11- लखनऊ महोत्सव, 2013 द्वारा युवा रत्न पुरस्कार   Publications- "द लंपतगंज" 1 संस्करण (2019), प्रकाशक: डायमंड बुक्स, आईएसबीएन 9352967925 आईएसबीएन 978-9352967926   "जनहित में जारी", प्रकाशक: हिंद युग, आईएसबीएन ९ ३75१३ ९ ४it५ एक्स आईएसबीएन ९-94- ९ ३5१३ ९ ४9५   "परमानु की छांव में", प्रकाशित: मित्तल एंड सन्स "पंच प्रपंच" संपादक: सुशील सिद्धार्थ, लेखक: पंकज प्रसून, प्रकाशित: अयान प्रकाशन (2017), आईएसबीएन 978-81-7408-967-0   सुशील सिद्धार्थ द्वारा संपादित "वांगय्या बत्तीसी", लेखक: पंकज प्रसून, वनिका प्रकाशन, आईएसबीएन 978-81-93285-25-1   प्रेम जनमेजय द्वारा संपादित "हंसते हुए सोना रोना" लेखक: पंकज प्रसून, संजना प्रकाशन, आईएसबीएन 978-81-92955-93-3   "सुशील से सिद्धार्थ टाक" राहुल देव द्वारा संपादित, लेखक: पंकज प्रसून, वनिका प्रकाशन, आईएसबीएन 978-93-86436-45-0   "वांगयकरन का बच्चन" सुशील सिद्धार्थ द्वारा संपादित, लेखक: पंकज प्रसून, वनिका प्रकाशन, आईएसबीएन 978-93-86436-29-0     प्रदर्शन- भारत के सभी प्रमुख शहर, संयुक्त राज्य अमेरिका, दुबई, नेपाल आदि   टीवी शो   कवि सम्मेलन - आजतक   वाह वाह क्या बात है - सोनी सब   लापेटे में नेताजी -न्यूज़ 18 इंडिया   मजाहिया मुशायरा - न्यूज 18 उर्दू   रंग बरसे - आजतक   वन्स मोर - DDUP   कवि गोष्ठी - डीडी नेशनल   होली स्पेशल - लाइव टुडे   काव्य पथ - इंडिया टी.वी.   महफिल -नेशनल वॉयस टीवी शो     कवि सम्मेलन - भारत सम्मान   अन्य उपलब्धियां -   1500 से अधिक लाइव शो किए।   प्रसून को इंडिया टुडे के शीर्ष 30 युवा आइकन के लिए 2019 में 30 नामित युवाओं के साथ कला और संस्कृति के क्षेत्र में चुना गया था। (https://aajtak.intoday.in/story/pankaj-prasoon-humorist-lucknow-interlude-1-1142489.html) भारत में विज्ञान कवि सम्मेलन का पायनियर एशिया में पंकज प्रसून ने परमाणु ऊर्जा पर अपनी पहली कविता पुस्तक रिकॉर्ड होल्डर के लिए बुक की। लाल किला कवि सम्मेलन और विभिन्न भारतीय मंत्रालयों में प्रदर्शन किया गया।

पार्थ नवीन
पार्थ नवीन
6 Articles0 Comments

पिता- श्री प्रहलाद नवीन निवास - प्रतापगढ़, राजस्थान। Email- [email protected] com शिक्षा - बी. ए. विधा - हास्य काव्यपाठ -  6 वर्ष की आयु से कविता पाठ। 2006 मे SAB TV  वाह वाह में काव्यपाठ। 2013 मे वाह वाह क्या बात है में काव्यपाठ। Dhamaal tv , dangal tv, zee news पर काव्यपाठ। सन 2010 से अखिल भारतीय कविसम्मेलनों में निरंतर काव्यपाठ। विदेश यात्रा - थाईलैंड ओर इंडोनेशिया में काव्यपाठ।

प्रख्यात मिश्रा
प्रख्यात मिश्रा
3 Articles0 Comments

जन्म:23/5/1993 स्थान:लखनऊ पिता का नाम:श्री माया प्रकाश मिश्रा माता का नाम:श्रीमती व्याख्या मिश्रा शिक्षा:एम•ए• (हिंदी) काव्य-यात्रा: 2013 से प्रारंभ होकर लगातार जारी 1 हजार से अधिक मंच लगातार टीवी चैनल दूरदर्शन से प्रसारण   उपलब्धि-महामहीम बंगाल,महा महीम उत्तर प्रदेश, महामहीम मध्य प्रदेश के द्वारा सम्मानित लगभग सभी प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्थानों द्वारा सम्मानित

Avatar
Raaj Gupta
0 Articles0 Comments

हिंदी साहित्य की वाचक परंपरा कवि-सम्मलेन, जिसका उद्देश्य समाज का दर्पण होकर उसे उसके गुणों एवं अवगुणों से परिचित करवाते हुए एक उचित दिशा प्रदान करना है। कवि-सम्मलेन की ये परंपरा लम्बे समय से सामजिक चेतना का ये कार्य करती आ रही है। इसी परंपरा को सहेजने और संवारने का कार्य करने के उद्देश्य से हमने यह माध्यम तैयार किया है।

रमेश शर्मा
रमेश शर्मा
6 Articles0 Comments

रमेश शर्मा जन्म -6/4/1961 शिक्षा -बी ए अभी कोई पुस्तक प्रकाशित नही ! कई कविसम्मेलनों में आमंत्रित रहा हूँ ! कुछ विदेश यात्राएं -कविसम्मेलन के लिए ! पिता का नाम -स्व. श्री मोहन लाल शर्मा माता जी का नाम -शारदा देवी निवासी -चित्तौड़ गढ़ (राज.)

रासबिहारी गौड़
रासबिहारी गौड़
2 Articles0 Comments

कवि, लेखक एवम चिंतक रास बिहारी गौड़ साहित्य जगत के सुविख्यात नाम हैं। अपनी हास्य व्यंग्य कविताओं को लेकर आप अमेरिका, कनाडा(दो बार) , यू. ए. ई. (तीन बार) सहित अनेकों देशों में जा चुके हैं।  टी वी के लोकप्रिय कार्यक्रम लाफ्टर चैंपियन के उप विजेता रहने के साथ-साथ सभी प्रमुख चैनल  यथा एन डी टी वी, इंडिया टी वी, ए बी पी न्यूज़, आज तक ,पर आपकी कविताएं प्रसारित होती रहती हैं। लालकिले कवि सममेलन से लेकर विविध अंतराष्ट्रीय समारोह में संचालन का दायित्व निभा चुके हैं। अनेकों साहित्य समारोह में शिरकत करते हुये आप अंतराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त "अजमेर लिटरेचर फेस्टिवल" का आयोजन करते हैं। आप " The Literature society of  India" के राष्ट्रीय संस्थापक अध्यक्ष हैं। देश भर में आयोजित होने वाले' जस्ट- हास्यम' एवम 'गीत- गुलजार'  सरीखे कार्यक्रम सीरीज के सयोंजक हैं। व्यंग्य लेखन को लेकर देश की तमाम प्रमुख पत्र पत्रिकाओं में छपते रहे हैं।  समाचार पत्रों में नियमित स्तम्भ, तीन पुस्तको ,, "लोकतंत्र के नाम", "जस्ट हास्यम", एव "वसीयत है कविता", का प्रकाशन हो चुका है।  यथासंभव'  नामक पत्रिका का सम्पादन आपके लेखकीय कौशल का विस्तार है।सोशल मीडिया पर आपके द्वारा लिखित  वैचारिकी और  बतरस  सर्वाधिक पसंद किए जाने वाले ब्लॉग हैं। साहित्य से इतर समाज के अनेको प्रकल्पों में सतत सक्रिय रहते हैं। लायंस क्लब के पूर्व अध्यक्ष, अखिल भारतीय कवि सम्मेलन समिति के कार्यकारणी सदस्य, सिटिज़न कॉउंसिल, सुर सिंगार संस्था ,शब्द, सहित अनेकों संस्थाओं में सक्रिय भागीदारी ,अनेकों पुरुस्कारों से सम्मनित श्री गौड़ अपने सरोकारों से सर्वत्र जाने जाते हैं।

डॉ. सरिता शर्मा
डॉ. सरिता शर्मा
3 Articles0 Comments

पूर्व सलाहकार संस्कृति मंत्रालय, राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त, पूर्व अध्यक्ष भारतेंदु नाट्य अकादमी, पिता का नाम- स्व श्री निरनाम दत्त शर्मा जन्मतिथि - 29 जुलाई शिक्षा - पीएचडी पता - एक्स 802, आम्रपाली सफायर, सेक्टर - 45, नोइडा (उत्तर प्रदेश) प्रकाशित संकलन - 1- पीर के सातों समन्दर(गीत संग्रह) 2- नदी गुनगुनाती रही (गीत संग्रह) 3- हुए आकाश तुम (गीत संग्रह) 4- तेरी मीरा ज़रूर हो जाऊं (मुक्तक संग्रह) 5- चाँद, मुहब्बत और मैं (ग़ज़ल संग्रह) ऑडियो सी डी - 1 रात भर चाँद सोता रहा 2 गीत बंजारन के इसके अतिरिक्त बहुत से पत्र पत्रिकाओं में कविता/संस्मरण/लेख आदि समय समय पर प्रकाशित। विशेष- कन्या भ्रूण हत्या विषयक गीत पाठ्य पुस्तक में सम्मिलित। भारतीय सांस्कृतिक परिषद (ICCR) द्वारा इंग्लैंड के अनेक नगरों में तथा विश्व हिंदी सम्मेलन, भोपाल व विश्व हिंदी सम्मेलन मॉरीशस में काव्य पाठ हेतु भेजा गया। अनेक अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा अमेरिका, इंग्लैंड तथा खाड़ी देशों में काव्यपाठ हेतु अनेकानेक अवसरों पर आमंत्रित किया गया। अत्यंत प्रतिष्ठित "लाल किला कवि सम्मेलन" में अनेक बार काव्य पाठ। अनेक टी वी चैनलों, आकाशवाणी आदि से महत्वपूर्ण अवसरों पर काव्यपाठ। कविता लेखन हेतु महादेवी वर्मा सम्मान, निराला सम्मान, यश भारती पुरस्कार, छत्तीसगढ़ निधि सम्मान तथा बृज कोकिला की उपाधि सहित देश विदेश के अनेक सम्मान/पुरस्कार प्राप्त। हिंदी की छंद बद्ध कविता के वर्तमान कवियों में डॉ सरिता शर्मा का नाम अग्रगण्य है। उनका जन्म भिलाई नगर में एक साधारण परिवार में हुआ। भिलाई नगर के कल्याण महाविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने एम ए तथा पी एच डी की पढ़ाई अम्बेडकर विश्व विद्यालय आगरा से पूरी की। सरिता शर्मा को बचपन से ही कविता लिखने का शौक रहा जो समय के साथ बढ़ता ही गया। उनके 7 काव्य संकलन प्रकाशित हुए हैं। कन्या भ्रूण हत्या पर लिखा उनका गीत मुम्बई विश्वविद्यालय की स्नातक की पाठ्य पुस्तक में वर्ष 2017 में सम्मिलित किया गया। उनकी रचनाओं पर आगरा विश्वविद्यालय में किये गए शोध पर उपाधि प्रदान की जा चुकी है। डॉ सरिता शर्मा गणतन्त्र दिवस के अवसर पर होने वाले #ऐतिहासिक लाल किला सम्मेलन में 15 बार से भी अधिक सम्मिलित होने वाली भारत की एकमात्र कवयित्री हैं। उन्हें भारत मे महादेवी वर्मा सम्मान नर्मदा सम्मान ब्रिज कोकिला उपाधि निराला सम्मान आदि लगभग 50 से अधिक सम्मानों के साथ उत्तर प्रदेश सरकार का सर्वाधिक प्रतिष्ठित 11 लाख रुपये की राशि का "यश भारती" सम्मान प्राप्त हुआ। केंद्र सरकार के उपक्रम ICCR की तरफ से उन्हें 2 बार ब्रिटेन के अनेक शहरों में हिंदी कविता तथा भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार हेतु सांस्कृतिक दूत बनाकर भेजा गया। वे UAE,  AMERICA सहित अनेक देशों में काव्य पाठ के लिए अनेक बार आमन्त्रित तथा सम्मानित की गई हैं। उनकी साहित्य सेवा और भारतीय संस्कृति में गहरी पैठ के चलते उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें "संस्कृति सलाहकार" तथा भारतेंदु नाट्य अकादमी की अध्यक्ष मनोनीत किया। उनकी कविताएं अनेक TV चैनल समेत पत्र - पत्रिकाओं में समय-समय पर प्रकाशित  होती रही हैं। अनेक समाचार पत्र, पत्रिकाओं में उनके लेख कविता कहानी प्रकाशित होते रहे हैं।

शाहज़ादा कलीम
शाहज़ादा कलीम
0 Articles0 Comments

शशांक प्रभाकर
शशांक प्रभाकर
1 Articles0 Comments

शशांक प्रभाकर जन्म - तिथि :20 मई 1975 जन्म -स्थान : आगरा (उत्तर प्रदेश) शिक्षा  : एम.ए.(अर्थशास्त्र),एम.बी.ए सम्प्रति : सहारा समय (सवांददाता) कृतियाँ : फूल खिले हैं गुलशन- गुलशन( संचयन) सम्पादन : 'शब्दलोक' मासिक पत्रिका (वर्ष 2003 -2008) सम्मान :  नीरज - शहरयार पुरुस्कार( एक लाख रुपये)2015 छुपा रुस्तम ( वाह वाह क्या बात है) शिखर सम्मान ( अलीगढ़) युवा सम्मान (कानपुर)     साहित्यिक - यात्राएँ : तीन बार इंग्लैण्ड यात्रा , मॉरीशस , ऑस्ट्रिया, पेरिस , स्वीट्जरलैंड, बार्सेलोना ( स्पेन)   संपर्क : 14 , सरस्वती नगर , बल्केश्व्र रोड , आगरा (उ.प्र.)

श्वेता सिंह
श्वेता सिंह
7 Articles0 Comments

निवास स्थान- वडोदरा (गुजरात) जन्म-17 जून शिक्षा-- पी. जी. दीनदयाल उपाध्याय (गोरखपुर यूनिवर्सिटी) लेखन-- सारी विधाएँ प्रकाशित रचनाएँ-- विभिन्न पत्र पत्रिकाओं  अख़बारों में।। मंच- 2018 से देश के करीब 18 राज्यों में काव्यपाठ,, दैनिक जागरण, हिंदुस्तान अख़बार, नई दुनिया, न्यूज 18 जैसे अखबारों की कविसम्मेलन सीरीज़।। टीवी- जी न्यूज़, न्यूज 18 और गुजराती न्यूज़ चेनल से काव्यपाठ।

सुरेन्द्र यादवेन्द्र
सुरेन्द्र यादवेन्द्र
13 Articles0 Comments

जन्म स्थान : बारां ( राजस्थान) जन्म तिथि : 24.03.1963 पिता का नाम :श्री आर.एस. यादवेन्द्र माता का नाम : श्रीमती दुर्गावती शिक्षा : एम.कॉम ,D.Y.N.S. दिक्षा : किसी से नहीं ली     पिछले 25 वर्षों से अखिल भारतीय मंचों पर काव्य पाठ   विधा : हास्य व्यंग्य सम्मान : अखिल भारतीय टेपा सम्मान ,उज्जैन महामूर्ख सम्मेलन , जयपुर अट्ठहास ,गाज़ियाबाद जनता की पुकार , मुंबई साहित्य कला मंच ,मुंबई ठहाका, मुंबई आदि कई मंचों पर कई बार सम्मानित   इलेक्ट्रॉनिक मीडिया : NDTV पर ' अर्ज किया है' , वाह -वाह ,बहुत खूब , ZEE पर हास्य कवि मुकाबला में जज, ETV राजस्थान ,star tv आदि कई चैनलों पर प्रस्तूति विदेश यात्रा : दुबई , मस्कट , शारजहां, अभिनय : ' फ़िल्म पापा तुम कहाँ हो ' टेली  फ़िल्म   प्रकाशन : प्रथम पुस्तक आपके हाथ में द्वितीय प्रेस में पता : संजीवनी मेडिकल , पीली कोठी ,अस्पताल रोड , बारां(राज.) आईये मित्रो आपको परिचय कराते है  अंतर्राष्ट्रीय हास्य व्यंग्य कवि दद्दा सुरेंद्र यादवेंद्र जी से आपका जन्म 24.03.1963 को बारां ( राजस्थान) में हुआ आपके पिता श्री आर. एस. यादवेंद्र ,माता श्रीमती दुर्गावती ,शिक्षा - एम० कॉम० ,D.Y.N.S सुरेंद्र यादवेंद्र जी प्रारंभ से ही माँ सरस्वती के पुजारी रहे हैं जिन्हें किसी से दीक्षा लेने की आवश्यकता नहीं पड़ी लगातार तीस वर्षों से अखिल भारतीय मंचों पर काव्य पाठ कर रहे हैं आप हास्य व्यंग्य के सशक्त हस्ताक्षर रहे हैं हिंदी कविता में हमेशा फूहड़ता ,अश्लीलता दो अर्थी कविता के विरोधी रहे हैं अपनी कविता में कभी व्याकरण से समझौता नहीं किया सम्मान की द्रष्टि से यदि देखा जाये तो दद्दा को अखिल भारतीय टेपा  सम्मान ,उज्जैन महा मूर्ख सम्मेलन ,जय पुर अट्टहास गाजियाबाद, जनता की पुकार ,मुंबई साहित्य कला मंच ,मुंबई ठहाका,तमाम मंचों पर कई बार  सम्मानित इलेक्ट्रॉनिक मीडिया मे भी आपका विशेष स्थान  रहा है N.D.T.V पर अर्ज  किया है ,वाह वाह बहुत खूब,Zee Smile हास्य मुकाबला में  जज ,E.T.V राजस्थान ,Star TV आदि कई चैनलों पर प्रस्तुति दुबई ,मस्कट,शारजहाँ कई विदेश यात्रा भी की गयीं है अभिनय में  भी आपकी भूमिका कम नही रही है फिल्म पापा तुम कहां हो टेली फिल्म आपकी कई पुस्तकें आ चुकी हैं आज भी श्रोताओं को अपने छंदों द्वारा हँसने हँसाने का अदम्य क्षमता रखने वाले दादा सुरेंद्र यादवेंद्र को  22 सितंबर को मुम्बई में मनहर ठहाका पृरुस्कार 2019  मिलने जा रहा है जिसमे 51 हजार रु नकद शॉल श्री फल स्मृति चिन्ह व प्रशाति पत्र व हास्य सम्राट की उपाधि दी जाएगी।

ताहिर फ़राज़
ताहिर फ़राज़
6 Articles0 Comments

उर्दू और हिंदी भाषा के कवि और गीतकार हैं जो अपनी भावनात्मक और रोमांटिक कविताओं के लिए जाने जाते हैं। एक कवि और गीतकार पिछले 50 वर्षों से उर्दू को संरक्षित कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में, वह अपनी उत्कृष्ट रचनाओं के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। वह प्रेम के कवि, भावनाओं के कवि और जीवन के कवि हैं। वह अपनी ग़ज़ल में सबसे आसान शब्दों का इस्तेमाल करते हैं ताकि उनके संदेश को सबसे आसान तरीके से स्थानांतरित किया जा सके। उनका धार्मिक नाम कुछ ऐसा है जो व्यक्ति को दिल के भीतर रोता है। उनके द्वारा लिखी गई ग़ज़लों की नज़्मों और गीतों की भारी मात्रा मौजूद है जो पूरी दुनिया में लोकप्रिय हैं। यूएसए, यूके, यूएई, केएसए, ओमान, कुवैत, कतर, पाकिस्तान और नेपाल में भारत का प्रतिनिधित्व किया। बॉलीवुड के सबसे लोकप्रिय और प्रमुख गायकों और संगीत निर्देशकों ने बड़ी मात्रा में परियोजनाओं के लिए उनके साथ काम किया है। उनके एल्बम HMV, T.Series, Sony जैसी सबसे प्रमुख संगीत कंपनियों द्वारा जारी किए गए हैं।

तनवीर ग़ाज़ी
तनवीर ग़ाज़ी
7 Articles0 Comments

एक मुख्यधारा के गीतकार, कवि और पटकथा लेखक हैं। 2016 में अमिताभ बच्चन अभिनीत फिल्म पिंक में अपने काम के लिए प्रसिद्ध, तनवीर गाजी एक भारतीय गीतकार हैं, जो मुख्य रूप से हिंदी फिल्म उद्योग में काम कर रहे हैं। उनकी क्रेडिट वाली फिल्मों में हेट स्टोरी 2 (2014), रनिंग शादी (2017), लव यू फैमिली (2017), अक्टूबर (2018), ये साली आशिकी 2019 शामिल हैं।   नामांकन : IIFA AWARDS 2017, स्टार स्क्रीन अवार्ड 2017 विजेता : जागरण उत्सव 2018, भारतीय टेलीविजन अकादमी पुरस्कार 2017, भारतीय आइकन, फिल्म पुरस्कार 2019, SAHIR LUDHIYANVI AWARD 2002, MAJROOH SULTANPURI AWARD 2019, राष्ट्र पुरस्कार 2018 का आभूषण।

तारिफ नियाज़ी
तारिफ नियाज़ी
6 Articles0 Comments

स्थान –रामपुर (उ.प्र) तारिफ नियाज़ी अंतरराष्ट्रीय उर्दू कवि और बॉलीवुड गीतकार जनाब ताहिर फ़राज़ के बेटे हैं। उन्होंने 4 साल की उम्र में अपना पहला शेर कहा था।वह एक बहुत प्रतिभाशाली कलाकार हैं जो एक पेशेवर उर्दू कवि, गीतकार और संगीतकार हैं। उनके कई गाने भारत और अन्य देशों के घोषित कलाकारों द्वारा सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों पर जारी किए गए हैं। वह प्रेम , प्रेमियों और सकारात्मकता के कवि हैं। उन्होंने अपनी कविताओं को उर्दू शायरी की शास्त्रीय शैली में लिखा है, जो कि मीर ताकी मीर स्कूल के माध्यम से उनके पास आ रहा है। वह पहले से ही उर्दू कविता के सभी किंवदंतियों, जैसे राहत इंदोरी, कुमार विश्वास, सुरेंद्र शर्मा, मुनव्वर राना, इकबाल अशर, नदीम फारुख, मंसूर उस्मानी और कई अन्य किंवदंतियों के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं। कविता के कई युवा पुरस्कारों के विजेता, उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड और लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है क्योंकि उन्होंने सबसे लंबे मुशायरे में भाग लिया था जो 102: 00 घंटे तक चला था। उन्होंने मुशायरों और कवि सम्मेलनों में भाग लेने के लिए दुबई, शारजाह, अबू धाबी, कतर, नेपाल, अल-ऐन और पूरे भारत की यात्रा की।

विकास बौखल
विकास बौखल
11 Articles0 Comments

विकास सिंह( बौखल)पुत्र श्री इन्द्रबहादुर सिंह ग्राम व पोस्ट सेमराय तहसील रामनगर जनपद  बाराबंकी उत्तर प्रदेश पिन 225202 शिक्षा स्नातक 2002 में बचपन से ही कविता कहानी का शौक बी0ए0प्रथम वर्ष से कविता लिखना और पढ़ना शुरू किया।20 वर्षों की काव्ययात्रा में लगभग 22 राज्यों में कव्यपाठ महाकवि काका हाथरसी,रमई काका,पण्डित छैल बिहारी बांण जैसे अनेक सम्मान प्राप्त ।अमर उजाला ,दैनिक जागरण,हिन्दुस्तान,प्रभात खबर,नई दुनिया जैसे  हिन्दी के प्रतिष्ठित अखबारों द्वारा आयोजित कविसम्मेलन एवं मुशायरों में कव्यपाठ।

डॉ. विष्णु सक्सेना
डॉ. विष्णु सक्सेना
6 Articles0 Comments

पिता: श्री। (दिवंगत) एन.पी सक्सेना माता: श्रीमती (स्वर्गीय) सरला देवी पत्नी: श्रीमती वंदना सक्सेना पुत्र –सारांश, चित्रांश जन्म स्थान: गाँव -सहादत पुर, सिकंदरा राव, (अलीगढ़) यू.पी. शिक्षा: B.A.M.S. (राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर) सम्मान और पुरस्कार- यश भारती सम्मान, लखनऊ, मनहर पुरस्कार- मुंबई, देवीलाल समर अवार्ड-उदयपुर, सर्वश्रेष्ठ कवि पुरस्कार-उज्जैन, ओंकार तिवारी पुरस्कार-जबलपुर, जनहित सेवा पुरस्कार-चित्तौड़गढ़, सुनील बजाज पुरस्कार-कटनी, निर्झर अवार्ड-कासगंज, टूलिका अवार्ड-एटा, श्याम बाबा अवार्ड-हाथरस, हिंदी P.S. पुरस्कार- एस राव, महादेवी वर्मा पुरस्कार-फर्रुखाबाद, कीर्तिमान पुरस्कार-मैहर, गीत गौरव पुरस्कार-एटा, उर्मिलेश गीते श्री अवार्ड-बदायूं (मुलायम सिंह द्वारा), सविता भार्गव पुरस्कार- मथुरा, गोपाल सिंह नेपाली पुरस्कार-भागलपुर, मेघ श्याम पुरस्कार -वृंदावन, तुलसी माखन पुरस्कार-खंडवा, दीन दयाल उपाध्याय पुरस्कार- लखनऊ, हिंदी प्रचारिणी सभा पुरस्कार- कनाडा, हिंदी विक्स मंडल - रैले- यूएसए, IHA- क्लीवलैंड-यूएसए द्वारा पुरस्कार, IHA- सिनसिनाटी-यूएसए द्वारा पुरस्कार, हिंदी समिति द्वारा पुरस्कार- यू.के. उपलब्धियां लोकप्रिय पत्रिकाओं में प्रकाशित और चिकित्सा लेखों का प्रकाशन। आकाशवाणी पर राष्ट्रीय प्रसारण कैसेट- ‘शंख और दीप ',' प्रेम कविता ',' तुम्हारी ली '(सीडी)। पुस्तकें--मधुवन मिले ना मिले ’, ik आस्था का शिखर’ (स्क्रिप्ट), ‘खुशबू लुटाता हू मेन’, स्व अहसानों की ’ 'लोकप्रिया के शिखर गीत' विदेश- ओमान -1995; इसराइल-1997; थाईलैंड-2000,2006; अमेरिका-1997,2001,2003, 2011; नेपाल-2004; दुबई- 2004,2005,2007,2008,2009,2010,2011; हांगकांग-2007- 2009; टी और टी -2009; इंग्लैंड -2009

हमारे बारे में

हिंदी साहित्य की वाचक परंपरा कवि-सम्मलेन, जिसका उद्देश्य समाज का दर्पण होकर उसे उसके गुणों एवं अवगुणों से परिचित करवाते हुए एक उचित दिशा प्रदान करना है। कवि-सम्मलेन की ये परंपरा लम्बे समय से सामजिक चेतना का ये कार्य करती आ रही है। इसी परंपरा को सहेजने और संवारने का कार्य करने के उद्देश्य से हमने यह माध्यम तैयार किया है।

संपर्क करें

पता: Plot no.828, Sector 2B, Vasundhara
Ghaziabad ,Uttar Pradesh,
India - 201012

फ़ोन: 7027510760

ई-मेल: [email protected]

Skip to toolbar