अभय 'निर्भीक'
अभय 'निर्भीक'
0 Articles0 Comments

नाम : अभय सिंह निर्भीक (पूरा नाम- अभय प्रताप सिंह ) पिता का नाम : श्री विजय बहादुर सिंह(पूर्व चीफ मैरीन इंजीनियर ,बबरतिया नौसेना) माता श्रीमती मंजुला सिंह (पूर्व प्रधानाचार्य, सरस्वती शिशु स्कूल ) जन्म तिथि: 20 जनवरी 1989 जन्म स्थान : ग्राम. सुलेमपुर, पोस्ट -परस कटुई ( किछौछा ) ,जिला -अम्बेडकरनगर,उत्तर प्रदेश प्रकाशित साहित्य ' निर्भीक स्वर' ( काव्य संग्रह) 'सृजन के सितारे (सह -सम्पादन) सम्मान एवं पुरुस्कार 1. 'पं. प्रताप नारायण मिश्र युवा साहित्यकार सम्मान '- भाऊराव देवरस सेवा न्यास ,लखनऊ द्वारा वर्ष -2012 2.'विभूति साहित्य सम्मान' संस्कार भरती, बरेली द्वारा - वर्ष 2013 3.'युवा रत्न सम्मान 'लखनऊ महोत्सव द्वारा -वर्ष 2016 4.'कबीर सम्मान ' तालिवुड हंगामा ,फैज़ाबादबाद द्वारा -वर्ष 2016 5.'ह्यूमन अवार्ड ' उपभोक्ता संरक्षण परिषद ,भारत सरकार द्वारा वर्ष 2018 6.'यशगान सम्मान ' यशगान आयोजन समिति ,इंदौर द्वारा -वर्ष 2018 7.'सृजन सम्मान' यू.पी. प्रेस क्लब ,लखनऊ द्वारा -वर्ष 2018 8.' युवा काव्य मानस सम्मान ' माँ फाउंडेशन ,दिल्ली द्वारा -वर्ष 2013 9.'सुमन एक्सीलेंस अवार्ड ' उर्मिला सुमन फाउंडेशन ,अम्बेडकरनगर द्वारा- वर्ष 2017 10.'अस्तित्व सम्मान ' विकल्प सोसाइटी ,लखनऊ द्वारा -वर्ष 2017 11.'साहित्य श्री सम्मान' अखिल भारतीय साहित्य उत्थान परिषद ,लखनऊ द्वारा -वर्ष 2017 12.'काव्यश्री सम्मान ' साहित्य सेवा संस्थान, फैज़ाबाद द्वारा -वर्ष 2017 13.'काव्य रत्न सम्मान ' कवितालोक लखनऊ द्वारा -वर्ष 2017 14.उत्तर प्रदेश खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा अभिनंदित -वर्ष 2017 15.उपरोक्त्त के अतिरिक्त अनेक पुरुस्कार व सम्मान प्राप्त अन्य उप्लब्धधियां- 1.दिल्ली के ऐतिहासिक लाल किला से गणतंत्र महोत्सव के राष्ट्रीय कावू सम्मेलन सहित देश के अनेक मंचों पर काव्यपाठ 2.दूरदर्शन ,आकाशवाणी, न्यूज 24, लाइव टुडे, ईटीवी, भारत समाचार , जी हिंदुस्तान ,नेशनल वायस सहित अनेकों चैनलों पर काव्यपाठ सम्प्रति मासिक साहित्यिक पत्र ' साहित्यगंधा' के कार्यकारी संपादक के रूप में कार्यरत संपर्क पता - 4/82 विराट खण्ड ,गोमतीनगर ,लखनऊ- 226010 फोन नं. - 9984207057 ईमेल - [email protected]

Avatar
admin
0 Articles0 Comments

अजातशत्रु
अजातशत्रु
8 Articles0 Comments

पिता: गोवर्धन सिंह राव माता :राजकुमारी राव जन्मस्थान : झीलों की नगरी उदयपुर (राजस्थान) उपलब्धियां: पुस्तकें: 1.आधी कटोरी चाँदनी 2.चुनावी गोरखधंधा 3.जिस नदी का समंदर नही 4.आखर पुल 5.गुरू महिमा विदेश यात्राएं 1.दुबई 2.मॉरीशस 3.अबु धाबी 4.नेपाल 5.श्रीलंका 6.इंडोनेशिया 7.इथोपिया,एडिस अबाबा (अफ्रीका) 8.केन्या,नैरोबी (अफ्रीका) सम्मान 1.युवा कवि सम्मान भारत सरकार द्वारा 2004 2.काव्यरत्न सम्मान इंदौर 3.सफल सञ्चालक सम्मान भारत विकास परिषद उदयपुर 4.काव्य शिरोमणि सम्मान फिरोजपुर केंट पंजाब 5.हास्य शिरोमणि सम्मान चैन्नई 6.लगभग 1500 सम्मान की एक लंबी श्रृंखला है जो पिछले 25 वर्षों के काव्य सेवा के दौरान मंचो से प्राप्त हुए। विशेष 1. राष्ट्रपति भवन में कवितापाठ 2. ‎भारत सरकार द्वारा अंडमान निकोबार जाना तथा सेल्युलर जेल में पर्यटकों के मध्य काव्यपाठ 3. ‎देश के सभी चैनल्स पर नियमित काव्य प्रसारण 4. ‎हिंदी फिल्म तीर्थ तथा नई दिशा में गीत लेखन 5. ‎हिंदी कवि सम्मेलनों के सेलिब्रिटी कवियों में शुमार जिन्हें सुनने हजारों की भीड़ जमा हो जाती है। 6. देश के सबसे बड़े चैनल जी न्यूज पर अनगिनत बार कवियुद्ध का सन्चालन। 7. इंडिया टीवी आजतक एबीपी न्यूज सहित देश के सभी लोकप्रिय चैनल्स पर ससम्मान आमंत्रित। 8. वर्तमान में भारत सरकार की हिंदी राजभाषा समिति के सदस्य

अखिलेश द्विवेदी
अखिलेश द्विवेदी
3 Articles0 Comments

नाम- अखिलेश चंद्र जन्म की तारीख - 01-12-1957 आयु - 63 पेशा - अधिवक्ता। इलाहाबाद में पैदा हुए। हमेशा संगीत में रुचि थी। युवावस्था में कुछ समय के लिए विभव भारती से जुड़े थे। त्योहारों में स्थानीय स्टेज शो के लिए नाटक लिखना शुरू कर दिया। इसके बाद उन्होंने लेखन में रुचि विकसित की। 2010 से वह कवि सम्‍मेलन और कविता पाठ के लिए पूरी तरह से समर्पित हैं।

आलोक श्रीवास्तव
आलोक श्रीवास्तव
0 Articles0 Comments

टीवी पत्रकार, कवि और गीतकार • आधारित: दिल्ली और मुंबई। पत्रकार के रूप में: आलोक ने भारत के जाने-माने मीडिया घरानों के साथ काम किया है जिसमें प्रमुख अखबार और चैनल दैनिक भास्कर, आजतक, इंडिया टीवी और डीडी ने लगभग दो दशकों तक काम किया है। वह समाचार और विचारों के आधार पर वृत्तचित्र और मेगा शो का निर्माण करने में एक विशेषज्ञ है। उन्होंने आजतक के लिए पहला आउटडोर चुनाव रोड शो तैयार किया। वह कई अन्य बड़े शो और पुरस्कार विजेता वृत्तचित्र टी वी इंडिया के निर्माता भी थे। दूरदर्शन के साथ सीनियर सलाहकार के रूप में, उन्होंने डीडी नेशनल, डीडी इंडिया और डीडी किसान की रिले टीम के सदस्य के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सहित्य में : आलोक की आमीन (कविता संग्रह) और आफरीन (कहानी संग्रह) सबसे अधिक समीक्षकों द्वारा प्रशंसित साहित्यिक कृतियाँ हैं। उनकी कविताओं और ग़ज़लों की ऐसी माँग है कि उनका अनुवाद रूसी और जापानी के अलावा विभिन्न भारतीय भाषाओं सहित गुजराती, मराठी और पंजाबी में किया गया है। एमीन पहले ही कई संस्करणों में जा चुकी है और इसके गुजराती संस्करण को काफी पहचान मिल रही है। आलोक ने प्रसिद्ध उर्दू कवियों की कई पुस्तकों का संपादन भी किया है। कवि और गीतकार के रूप में: आलोक एकमात्र युवा कवि हैं जिनकी साहित्यिक रचनाओं में ग़ज़ल के उस्ताद स्वर्गीय जगजीत सिंह, पंकज उधास, जसविंदर सिंह, सुदीप बनर्जी सिंगर शंकर महादेवन, रेखा भारद्वाज, शान, कैलाश खेर, ऋचा शर्मा, जावेद अली, मालिनी अवस्थी, शास्त्रीय गायिका ने आवाज़ दी है। गायक उस्ताद राशिद खान, शुभा मुद्गल, महान बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन और कई अन्य। उन्होंने 2012 में ग्रैमी अवार्ड्स के लिए नामांकित एल्बम ट्रैवलर के लिए प्रसिद्ध सितारवादक अनुष्का शंकर के साथ भी काम किया। उन्होंने पुरस्कार विजेता इंडो-अमेरिकन फिल्म पतंग: द काइट और फिल्म के थीम गीत के लिए गीतकार के रूप में प्रशंसा हासिल की। दिस शिट अनिमोर को लें। फिल्म ने 'बेस्ट फिल्म ऑन सोशल इश्यू ’श्रेणी में राष्ट्रीय पुरस्कार जीता। मल्टी स्टारर फिल्म वोडका डायरीज़ में गीत। गज़ल गायक जसविंदर सिंह द्वारा गाए और संगीतबद्ध उनके एल्बम "इटरनल" को द बेस्ट ऑफ़ द ईयर के लिए AAMA अवार्ड मिला। एक केबीसी विशेषज्ञ के रूप में आलोक बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की मेजबानी वाले सबसे लोकप्रिय टीवी शो केबीसी में विशेषज्ञ सलाहकार भी रहे हैं। पुरस्कार और सादर: आलोक को मध्य प्रदेश साहित्य अकादमी द्वारा दुष्यंत कुमार पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। वह मास्को, रूस से अंतर्राष्ट्रीय पुश्किन पुरस्कार प्राप्त करने वाले सबसे युवा कवि हैं। उन्होंने वाशिंगटन डीसी में यूएसए से अंतर्राष्ट्रीय कविता पुरस्कार भी प्राप्त किया। कविता के लिए उनकी प्रशंसा की सूची में नवीनतम है, ब्रिटिश संसद के हाउस ऑफ कॉमन्स के लंदन में और कविता के लिए फिराक गोरखपुरी पुरस्कार। हाल ही में उन्हें मध्य प्रदेश उर्दू अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साहित्यिक भ्रमण: आलोक ने अमेरिका, ब्रिटेन, रूस, दक्षिण अफ्रीका, केन्या, यूएई, दोहा-कतर, कुवैत, बहरीन और कई अरब देशों सहित 20 से अधिक देशों में साहित्यिक यात्राएं की हैं। संपर्क करें : 91-989903333

अनिल कुमार चौबे
अनिल कुमार चौबे
0 Articles0 Comments

जन्म तिथि=18-11-1976 कवि नाम- डॉ अनिल चौबे माता- श्रीमती सोना देवी पिता- स्व-रामछबिला चौबे जन्म स्थान- ग्राम-पटखौली पो-मुसहरी बाजार जिला-गोपालगंज बिहार । वर्तमान पता- N1/15-11-1P नगवां लंका वाराणसी 221005 सम्पर्क सूत्र- 9415997053 7355557083 ईमेल- [email protected] शिक्षा= साहित्याचार्य, नेट(यू जी सी) विद्या-वारिधि(पीएच डी) काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU)वाराणसी सम्प्रति= स्वतंत्र लेखन कृतियाँ- (जो प्रकाशनाधीन है) 1.चकल्लस चौबे जी का 2. मेघदूत का भोजपुरी पद्यानुवाद 3.मैं ने कही ग़ज़ल मूल विधा= हास्य-व्यंग्य (1998 से अखिल भारतीय कवि सम्मेलनों में हास्य कवि के रूप सक्रिय) विदेश यात्रा= दुबई , शारजहां, बैंकॉक, नैरोबी, ओमान, सलाला, सोहार, (लंदन, बाथ,स्लाव,कार्डिफ,मनैचेस्टर, स्कॉटलैंड,आयरलैंड,नटिंघम, बरहिंग्घम,ब्लैक पुल, लेबरपुल,आदि UK के 14 शहर) TV शो-- लपेटे में नेता जी (News18इण्डिया) Z News- कवि युद्ध सम्मान= 1- काव्यशेखर (2007) युवा विद्वत परिषद वाराणसी 2.स्व.योगेश्वर दयाल वर्मा स्मृति "प्रणाम सम्मान" लखनऊ 2015 3. यूपी गौरव रत्न (श्रीचंद्रशेखर फाउंडेशन, वाराणसी) 2015 4. शैल चतुर्वेदी सम्मान 2017, लखनऊ, पहल संस्था 5 . प्रयाग रत्न (2017) हंसवाहिनी संस्था इलाहाबाद 6. काव्यकलाधर अलंकरण (उन्नाव आचमन संस्था) 2018 7. शाने ए बनारस (jcl 2020) (हास्य कवि- अनिल चौबे एक संक्षिप्त परिचय) पिछले दो दशक में हिन्दी कवि-सम्मेलन के मंचों पर हास्य कवि के रूप में उभरे कवियों में डॉ अनिल चौबे वो नाम है जो अपनी मौलिकता और प्रत्युत्पन्न मति के लिए जाना जाता है ! देश के विभिन्न मंचों पर अपनी लोकप्रिय प्रस्तुति से ख्याति प्राप्त कवि अनिल चौबे भारत के अलावा दुबई शारजहाँ बैंकॉक साउथ अफ्रीका और UK के बेल्थ, स्लाव, ब्लैकपुल,नाटिंघम, बरहिंग्घम,लंदन, मैनचेस्टर,आदि 14 शहरों में भी अपनी हास्य व्यंग्य कविताओं का जादू बिखेर चुके है ! संस्कृत साहित्य का लालित्यमय सौंदर्य और भाषायी टोन की शरारती महक उनकी बोलचाल में सहज रूप से उतरी है, जो इन्हें अन्य मंचीय कवियों से अलग तो करती ही है, विशिष्ट भी बनाती है ! उनकी रचनाएँ केवल हास्य की गुदगुदी ही नही पैदा करती बल्कि व्यंग्य की तीखी चुभन भी देती है ! उनका रचनाकार जहाँ एक ओर चहरे पर खिलखिलाहट बिखेरने में सक्षम है, वहीं अपना काव्य धर्म निर्वाह करते हुए मस्तक पर सार्थक चिंतन की गम्भीर रेखाएँ उभारने की क्षमता भी रखता है ! सहज बातचीत, हंसमुख व्यवहार, स्थितियों और घटनाओं को गहनता से समझने की अद्भुत क्षमता, व्यंग्य की आत्मा को टटोलते हुए जीवन के तमाम पहलुओं पर चर्चा और बेहिचक सच बोल सकने का आत्मबल डॉ अनिल चौबे को अन्य कवियों से विशेष बनाता है ।

अशोक चारण
अशोक चारण
0 Articles0 Comments

पिता मूलसिंह माता रामकंवर पत्नि ..सपना बारहठ मनोज्ञा और वंदिता दो बेटियाँ 31 जनवरी 1984 को जन्म हुआ कवि सम्मलेन परम्परा के वीर रस के नई पीढ़ी के ऐसे कवि जो साम्प्रदायिकता का समर्थन नही करते हुए राष्ट्रवाद की स्थापना के प्रमुख कवि है मूलतः राजस्थान के अजमेर जिले के खेड़ी महादेव गाँव के निवासी है और वर्तमान में जयपुर रहते हैं । इनके द्वारा लिखी तिरंगा, किसान,पुलवामा धरती हिंदुस्तान की, आदि कई कविताएं हैं जो देश प्रसिद्ध है । कई हिंदी संस्थाऐं इनको सम्मानित कर चुकी है कृष्ण मित्र सम्मान 2013 बालकवि बैरागी सम्मान 2018 तुलसी माखन सम्मान 2019 कृति ...प्रासाद का अवसाद (पन्नाधाय के बलिदान पर एक खण्डकाव्य) अगली कृति गीतों की होगी जो लगभग पूर्ण है और शीघ्र ही पाठकों के हाथ में होगी जो लगभग पूर्ण है और शीघ्र ही पाठकों के हाथ में होगी गीत मुक्तक ग़ज़ल और गद्य लेखन में भी अशोक चारण की अभिव्यक्ति अद्भुत है सोशियल मीडिया पर लगातार इस शैली को बहुत पसंद किया जा रहा है । सभी टीवी चैनलों (आस्था संस्कार न्यूज नेशन NDTV इंडिया टीवी ज़ी न्यूज़ ETVआदि ) पर काव्य पाठ के लिए निरंतर बुलाये जाते हैं । देश के लगभग सभी हिन्दीभाषी प्रदेशों में वीर रस के लोकप्रिय कवि के रूप में इनको स्वीकार किया गया है साहित्य कि सभी विधाओं में इनका लेखन सतत् है हिंदी साहित्य से प्रथम श्रेणी से ऍम ए कर चुके अशोक का हिन्दी भाषा के प्रति समर्पण सराहनीय है ICCR द्वारा UK के सभी प्रमुख शहरों में काव्य पाठ किया जिनमे BELFAST ,DUBLIN, LIVERPOOL, EDINBURGH, GLASGOW, MANCHESTER, NOTTINGHAM, BIRMINGHAM, CARDIFF, BRISTOL SLOUGH, LONDON शामिल है।

कविता तिवारी
कविता तिवारी
3 Articles0 Comments

जन्म : 07/05/1990 स्थान : लखनऊ पिता का नाम : श्री रतन तिवारी माता का नाम : श्रीमती सुमन तिवारी शिक्षा : बी.एड., एम.ए. (हिंदी), नेट उत्तीर्ण काव्य - यात्रा : 13 अगस्त 2005 पहला कवि सम्मेलन अब तक लगभग 1000 से अधिक मंचों तथा विभिन्न टी.वी. एवं रेडियो चैनल से काव्य पाठ उपलब्धि : सुभद्रा कुमारी चौहान सम्मान, महादेवी वर्मा स्मृति सम्मान, सुमित्रा कुमारी सिन्हा सम्मान, निराला सम्मान, अमृत लाल नागर सम्मान, दिनकर सम्मान, युवा रत्न सम्मान, अवध गौरव सम्मान, दिव्यांकुर सम्मान, स्वामी विवेकानंद सम्मान, काव्य गौरव सम्मान, युवा गौरव सम्मान, अटल स्मृति सम्मान, कीर्तिमान सम्मान, साहित्य भारती सम्मान, ब्राह्मण कुलभूषण सम्मान, स्व. देवल आशीष सम्मान, महाराजा देवी बक्श सिंह स्मृति सम्मान, रानी लक्ष्मी बाई सम्मान इत्यादि.

Avatar
Raaj Gupta
0 Articles0 Comments

हिंदी साहित्य की वाचक परंपरा कवि-सम्मलेन, जिसका उद्देश्य समाज का दर्पण होकर उसे उसके गुणों एवं अवगुणों से परिचित करवाते हुए एक उचित दिशा प्रदान करना है। कवि-सम्मलेन की ये परंपरा लम्बे समय से सामजिक चेतना का ये कार्य करती आ रही है। इसी परंपरा को सहेजने और संवारने का कार्य करने के उद्देश्य से हमने यह माध्यम तैयार किया है।

शाहज़ादा कलीम
शाहज़ादा कलीम
0 Articles0 Comments

हमारे बारे में

हिंदी साहित्य की वाचक परंपरा कवि-सम्मलेन, जिसका उद्देश्य समाज का दर्पण होकर उसे उसके गुणों एवं अवगुणों से परिचित करवाते हुए एक उचित दिशा प्रदान करना है। कवि-सम्मलेन की ये परंपरा लम्बे समय से सामजिक चेतना का ये कार्य करती आ रही है। इसी परंपरा को सहेजने और संवारने का कार्य करने के उद्देश्य से हमने यह माध्यम तैयार किया है।

संपर्क करें

पता: Plot no.828, Sector 2B, Vasundhara
Ghaziabad ,Uttar Pradesh,
India - 201012

फ़ोन: 7027510760

ई-मेल: [email protected]

Skip to toolbar

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/kavisammelanlive/public_html/wp-includes/functions.php on line 4755