प्रख्यात मिश्रा
प्रख्यात मिश्रा
3 Articles0 Comments

जन्म:23/5/1993 स्थान:लखनऊ पिता का नाम:श्री माया प्रकाश मिश्रा माता का नाम:श्रीमती व्याख्या मिश्रा शिक्षा:एम•ए• (हिंदी) काव्य-यात्रा: 2013 से प्रारंभ होकर लगातार जारी 1 हजार से अधिक मंच लगातार टीवी चैनल दूरदर्शन से प्रसारण   उपलब्धि-महामहीम बंगाल,महा महीम उत्तर प्रदेश, महामहीम मध्य प्रदेश के द्वारा सम्मानित लगभग सभी प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्थानों द्वारा सम्मानित

उन घरों पे क्या है बीती ये कभी सोचा गया है

कष्ट का अंतिम चरण है सूर्य पर तम का ग्रहण है ठोकरों में स्वप्न टूटे दर्पणों के भाग फूटे बुझ गए घर के उजाले छिन गए सबके निवाले पाँव में सबके है छाले कौन अब किसको संभाले   मांग से…

मगर अयोध्या से पहले हर दिल में राम जरूरी है

राम वही जो मर्यादाओं की परिभाषा बने रहे राम वही जो भरत भूमि की अंतिम आशा बने रहे राम वही जो उपमाओं और उपमानों से बढ़ कर है राम वही जो अनुमानों और सम्मानों से बढ़ कर है जिनसे राज…

तब तुम्हारी वीरता के गीत गाये जाएंगे

याद आएगा लहू से जब किया श्रंगार तुमने प्राण की दी भेंट तुमने हर जनम हर बार तुमने तुम समय के काल पर चढ़ दासता को मेट आये तुम प्रलय बन काल से लड़ युद्ध मे भी मुस्कुराए युगों तक…

हमारे बारे में

हिंदी साहित्य की वाचक परंपरा कवि-सम्मलेन, जिसका उद्देश्य समाज का दर्पण होकर उसे उसके गुणों एवं अवगुणों से परिचित करवाते हुए एक उचित दिशा प्रदान करना है। कवि-सम्मलेन की ये परंपरा लम्बे समय से सामजिक चेतना का ये कार्य करती आ रही है। इसी परंपरा को सहेजने और संवारने का कार्य करने के उद्देश्य से हमने यह माध्यम तैयार किया है।

संपर्क करें

पता: Plot no.828, Sector 2B, Vasundhara
Ghaziabad ,Uttar Pradesh,
India - 201012

फ़ोन: 7027510760

ई-मेल: [email protected]

Skip to toolbar